वर्ल्ड कप में जीत एशेज में मायने नहीं रखती: वॉर्न | खेल | DW | 18.05.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वर्ल्ड कप में जीत एशेज में मायने नहीं रखती: वॉर्न

शेन वॉर्न का मानना है कि इंग्लैंड ने भले ही ऑस्ट्रेलिया को ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में हरा दिया हो लेकिन उसका एशेज सीरीज पर कोई असर नहीं होगा. वैसे वॉर्न इंग्लैंड के पास मनोवैज्ञानिक बढ़त होने स्वीकार करते हैं.

default

काफूर हुआ इंग्लैंड का डरः वॉर्न

महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न का कहना है कि इस साल होने वाली एशेज सीरिज में ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप की सफलता मायने नहीं रखेगी. "आप अच्छा खेले. बढ़िया है. इंग्लैंड ने पहला राउंड जीत लिया. लेकिन जब ब्रिस्बेन में एशेज टेस्ट का पहला दिन होगा तो ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप में जीत नहीं गिनी जाएगी." वैसे वॉर्न ने वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन के लिए इंग्लैंड को बधाई दी है.

वॉर्न के मुताबिक जब भी ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड का मुकाबला होता है तो एशेज की बात उठती है. "पूछा जाता है कि शुरुआती बढ़त किसके पास है. हम यह कह सकते हैं कि इंग्लैंड के तौरतरीके में बदलाव आया है. पहले वे सोचते थे कि अगर हमने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया तो हम ऑस्ट्रेलिया को हरा सकते हैं. अब वे सोचते हैं कि हम उन्हें हरा सकते हैं. यानी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डर कर खेलने की भावना काफूर हो चुकी है."

Cricket England Australien

जीत ने भरा इंग्लैंड में जोश

डेली टेलीग्राफ अखबार में लिखे अपने कॉलम में वॉर्न ने कहा है कि वर्ल्ड कप में जीत से इंग्लैंड को मनोवैज्ञानिक बढ़त मिल गई है. पिछले साल एशेज में हार के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम अपनी लय में लौटती दिख रही थी लेकिन फाइनल में वह इंग्लैंड से हार गई. इससे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों में संदेश गया है कि खेल की किसी भी विधा में इंग्लैंड को हराने के लिए बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा.

वॉर्न की राय में एशेज और ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप बिलकुल अलग फॉर्मेट पर आधारित हैं लेकिन इंग्लैंड के पास अब संतुलित टीम है जो रिकी पोटिंग के नेतृत्व वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को चुनौती देगी. केविन पीटरसन और ग्रैम स्वान इस समय शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. वह कहते हैं, "केविन पीटरसन के रूप में इंग्लैंड के पास विध्वसंक बल्लेबाज है. आईपीएल और ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप में खेलकर वह फॉर्म में लौट आया है, नहीं तो उन्हें टेस्ट क्रिकेट में जूझना पड़ रहा था. पीटरसन जब अपना स्वाभाविक खेल दिखाते हैं तो वह शानदार पारियां खेलते हैं. उन्हें बहुत ज्यादा तकनीक पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं है." ग्रैम स्वान इंग्लैंड के एक ऐसे स्पिनर हैं जो किसी भी फॉर्मेट में जबरदस्त बॉलिंग कर सकते हैं. वह फिलहाल दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

संबंधित सामग्री

विज्ञापन