लीक हुआ एयरलाइन का दस्तावेज, पता चला प्लेन उड़ाना भूल रहे पायलट | खबरें | DW | 06.01.2022

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

खबरें

लीक हुआ एयरलाइन का दस्तावेज, पता चला प्लेन उड़ाना भूल रहे पायलट

कोविड-19 महामारी के लंबे ब्रेक के बाद काम पर लौटे इन पायलटों ने रिफ्रेशर ट्रेनिंग के दौरान कई ऐसी गलतियां कीं, जो यात्रियों के लिए जानलेवा भी हो सकती हैं. कई पायलट तो आवश्यक स्विच नहीं पहचान सके.

कोविड-19 महामारी के दौरान लंबे ब्रेक के बाद काम पर लौटे पायलट फ्लाइट्स उड़ाने में गलतियां कर रहे हैं. एक बड़ी ऑस्ट्रेलियन एयरलाइन क्वांटास एयरवेज के लीक हुए दस्तावेज में यह बात सामने आई है. बुधवार को ऑस्ट्रेलिया की मीडिया रिपोर्ट्स में इस बारे में जानकारी दी गई.

क्वांटास ने अपनी पायलट रिपोर्ट में कुछ आम गलतियों का जिक्र किया है, जिनमें पार्किंग ब्रेक लगे होने के बावजूद टेक-ऑफ शुरु कर देना और ऊंचाई को हवा की गति समझ लेने जैसी गलतियां आम हैं. ऑस्ट्रेलियन अखबारों सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड और मेलबर्न्स ऐज की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई.

फ्लाइट उड़ाने का ताजापन गायब

गनीमत यह रही कि पायलटों ने यह गलतियां असल उड़ानों के दौरान नहीं बल्कि रिफ्रेशर ट्रेनिंग प्रोग्राम के दौरान कीं. मीडिया रिपोर्टों में यह भी कहा गया कि कॉकपिट पैनल में स्विच भी गलत जगहों पर रखे थे, और क्रू उन्हें खोजने में लगा था और वे इस स्थिति को समझ नहीं पा रहे थे.

रिपोर्ट्स के मुताबिक दस्तावेज में क्वांटास के फ्लीट ऑपरेशन प्रमुख ने कहा है कि कोविड-19 के चलते फ्लाइट्स के परिचालन में आई रुकावटों के चलते कई पायलटों के पास हालिया दिनों में बहुत कम फ्लाइट उड़ाने का अनुभव रहा है. जबकि फ्लाइट उड़ाने के लिए यह एक जरूरी हुनर माना जाता है, इसे 'ताजापन' भी कहते हैं. अंत में दस्तावेज में कहा गया है, 'अनुभवी पायलट लौटने के बाद जानकारी संबंधी क्षमता में कमी का अहसास कर रहे थे.'

वीडियो देखें 00:46

जब यात्रियों ने प्लेन से उतर कर उसमें धक्का लगाया

जरूरत फिर से ट्रेनिंग की

क्वांटास की एक प्रवक्ता ने इस मुद्दे पर कहा, "दुनिया भर में एयरलाइन कोविड से पहले की तरह उड़ानें भरने के लिए जटिल तरीकों से कोशिशें कर रही हैं, इन कोशिशों में उन पायलटों को वापस लाना भी शामिल है, जिन्होंने लंबा समय बिना कोई फ्लाइट उड़ाए गुजारा है."

उन्होंने कहा, "क्वांटास ने बहुत जल्द ही इस बात को समझ लिया कि उसे पायलटों के लिए हाल के दिनों में फ्लाइट से संबंधित जरूरतों को फिर से परखना चाहिए और इसके लिए उसे एक बार "फिर से सभी चीजों से परिचय कराने वाले एक प्रोग्राम" की जरूरत होगी."

सभी एयरलाइंस नहीं दे रहे ट्रेनिंग

प्रवक्ता ने कहा, "हमने एक कारगर 'काम पर लौटो' कार्यक्रम तैयार किया है, जो हमारी इंडस्ट्री के सामने मौजूद अभूतपूर्व चुनौतियों का सामना करने के लिए उपयुक्त है. सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है और सारा डाटा दिखाता है कि हमारे पायलट अपने काम को सुरक्षापूर्वक करने के हुनर और आत्मविश्वास को वापस पा रहे हैं."

यात्री सुरक्षा को क्वांटास अक्सर मुद्दा बनाती रही है. पिछले महीने विवादों में रहे बोइंग विमानों को छोड़कर एयरबस विमानों को ही अपनाने की बात कही थी. जानकार मानते हैं कि क्वांटास ने इस तरह के कार्यक्रम शुरु किए तो उन्हें पायलटों की गलतियों का पता चला लेकिन ऐसी चूंकि सभी एयरलाइंस पायलटों को फिर से ट्रेनिंग नहीं दे रहीं, ऐसे में पायलटों को सीधे काम पर लगाना कभी भी खतरनाक साबित हो सकता है.

एडी/एमजे (एएफपी/ रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री