लातविया में भी यूरो मुद्रा | दुनिया | DW | 28.12.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लातविया में भी यूरो मुद्रा

साल शुरू होने के साथ ही लातविया भी यूरो मुद्रा अपनाने जा रहा है. यूरो वाला वह 18वां देश होगा. राहत की थोड़ी बात है कि यूरो पहले से थोड़ा मजबूत चल रहा है.

लातविया को भरोसा है कि यूरो अपनाने के बाद उनके देश का आर्थिक विकास और तेज होगा. पिछले साल यूरोपीय संघ में यह सबसे तेज विकास वाला देश रहा है. प्रधानमंत्री वाल्दिस डोमब्रोस्की का कहना है, "यूरोजोन में शामिल होने का मतलब मजबूत और ज्यादा वैश्विक मुद्रा वाले क्षेत्र में शामिल होना. इससे निश्चित तौर पर अर्थव्यवस्था को फायदा होगा."

लेकिन लातविया और उसकी राजधानी रीगा में सबको ऐसा भरोसा नहीं है. देश के 20 लाख लोगों में से सिर्फ आधे ने ही यूरो के हक में मत दिया है. प्रधानमंत्री हालांकि पड़ोसी देश एस्टोनिया की मिसाल देते हैं, जिसने 2011 में यूरो अपनाया और वहां फायदा दिख रहा है. यहां तक कि उस वक्त यूरो की हालत भी बहुत खराब थी.

Lettland Mädchen in Trachten in Riga

यूरो का स्वागत

यूरो मतलब मजबूती

एस्टोनिया के प्रधानमंत्री टूमास हेंड्रिक ने अक्टूबर में कहा, "यह किसी देश की गुणवत्ता की निशानी है कि इसकी अर्थव्यवस्था और वित्तीय ढांचा यूरोजोन के अंदर हो." उनका दावा है कि प्रतिद्वंद्विता के स्तर पर इसका काफी फायदा होता है और इसकी वजह से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश पर भी अच्छा असर पड़ता है.

पिछले साल यानी 2013 के दूसरे हिस्से में यूरोजोन को फायदा पहुंचा है और वह 18 महीने बाद घाटे से बाहर निकलने में कामयाब रहा है. जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल का कहना है, "यूरोजोन को स्थिर करने के लिए हमने काफी काम किया है. हम कह सकते हैं कि अब यूरोपीय संघ के 28 में से 18 देश यूरो अपना चुके हैं. लातविया को इसमें शामिल करने का मैं स्वागत करती हूं."

Lettland Strand bei Jurmala westlich von Riga Flash-Galerie

मनोरम बाल्टिक समुद्रतट

बढ़ सकती है महंगाई

हालांकि लातविया के लोगों को इस बात का डर सता रहा है कि यूरो आने के बाद महंगाई बढ़ सकती है और उन्हें अपनी मुद्रा लाट से अलग होते हुए भी अच्छा नहीं लग रहा है. लातवियाई मुद्रा यूरो से ज्यादा मूल्य की है. एक यूरो करीब 0.70 लाट का है और मुद्रा बदलने पर यही रेट मिल रहा है. लाट का देश की आजादी के साथ भी जुड़ाव रहा है. लातविया 1991 में सोवियत संघ से अलग हुआ है. यूरो की स्वीकृति बढ़ाने के लिए खास सिक्के ढाले जाएंगे. पांच लाट के सिक्कों पर जो राष्ट्रीय परिधान में महिला की तस्वीर होती थी, वही तस्वीर यूरो के सिक्कों पर भी होगी.

प्रधानमंत्री डोमब्रोस्की का कहना है, "निश्चित तौर पर लोगों में लाट को लेकर भावनाएं जुड़ी हैं. लेकिन मेरा मानना है कि हमें आगे बढ़ना होगा." जनवरी के शुरुआती दो हफ्तों में लाट और यूरो दोनों चलेगा. लातविया ने 11 करोड़ यूरो के नोट और 40 करोड़ यूरो के सिक्के मंगाए हैं. यूरोपीय संघ ने देश के आर्थिक नियमों पर संतुष्टि जताई है. लातविया 2004 से ही यूरोपीय संघ का सदस्य है. ब्रिटेन और डेनमार्क को छोड़ कर धीरे धीरे सभी संघ सदस्यों को यूरोजोन में शामिल होना है.

एजेए/एमजे (डीपीए)

DW.COM

विज्ञापन