यौन शोषण आरोपों के घेरे में बीबीसी | दुनिया | DW | 25.10.2012
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

यौन शोषण आरोपों के घेरे में बीबीसी

बीबीसी के पूर्व पॉप शो मेजबान जिमी सैविल को लेकर विवाद लगातार बढ़ रहा है. दुनिया की जानी मानी समाचार सेवा कंपनी के कुछ अधिकारियों के बारे में कहा जा रहा है कि वे बाल यौन शोषण के एक गिरोह का हिस्सा थे.

अपने पूर्व प्रेजेंटर के यौन शोषण पर पर्दा डालने के आरोपों के बाद बीबीसी परेशानी में है. उसे यह सफाई देने में मुश्किल हो रही है कि उसके एक शो पर इस मामले पर हुई तहकीकात का प्रसारण क्यों नहीं होने दिया. उधर ब्रिटिश सरकार ने बीबीसी को चेतावनी दी है कि यह विवाद लोगों के भरोसे के सिलसिले में कई सवाल उठा रहा है. प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने संसद में कहा, "इन आरोपों का मतलब है कि कई संस्थानों को, खास तौर से बीबीसी को कई गंभीर सवालों के जवाब देने होंगे."

बीबीसी का खर्च सार्वजनिक लाइसेंस फीस के जरिए चलता है. पुलिस और बीबीसी के अधिकारी अब उन आरोपों की जांच कर रहे हैं जिनके मुताबिक पॉप शो के मशहूर मेजबान रहे सैविल ने अपने काम के छह दशकों के दौरान युवा लड़कियों का यौन शोषण किया. इनकी संख्या एक दो नहीं 200 से ज्यादा है. उनमें से कुछ मामले बीबीसी के परिसर में हुए. सैविल की पिछले साल अक्टूबर में मौत हो गई थी. पुलिस 2009 से सैविल के खिलाफ आरोपों की जांच कर रही है. उस वक्त उनके खिलाफ एक औपचारिक मामला दर्ज किया गया था, लेकिन उस पर कार्रवाई नहीं हुई.

बीबीसी को चारों ओर से इस घोटाले ने घेर रखा है. बीबीसी के निदेशक जॉर्ज एंटविसल को इस सिलसिले में काफी आलोचना का सामना करना पड़ा है. बीबीसी के पूर्व निदेशक मार्क थॉम्पसन की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं. थॉम्पसन जल्द ही अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स के प्रमुख बनने वाले हैं.

पीड़ितों का प्रतिनिधित्व कर रहे वकीलों का कहना है कि शोषण के वक्त इनमें से कई बच्चे आठ या नौ साल के थे. वकीलों ने बताया कि 1970 और 1980 के दशक में सैविल जब अपनी ख्याति के चरम पर थे तब ऐसे कई और जाने माने लोग थे जो बाल यौन शोषण के गिरोह का हिस्सा थे. स्लेटर एंड गॉर्डन कानून कंपनी की एलीशिया एलिनिया ने सामाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि कुछ लोग इस जानकारी के साथ उनके पास आए हैं. "ऐसा लगता है कि जिमी सैविल के अलावा भी कई लोग इसमें शामिल थे. मैं इन

सेलेब्रिटीज के नाम तो नहीं बता सकती लेकिन यह साफ है कि यह काम केवल अनजाने लोगों का नहीं था." इससे पहले बीबीसी ने कहा कि उसके नौ और अधिकारियों के खिलाफ आरोप लगे हैं. इन आरोपों में यौन शोषण के गंभीर मामलों के अलावा गलत भाषा का इस्तेमाल करना या आपत्तिजनक बर्ताव करना शामिल हैं. बीबीसी की एक प्रवक्ता ने कहा है कि इन लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

वैसे मामला यहां खत्म होता नहीं दिख रहा. लेबर पार्टी के सांसद टॉम वॉटसन ने संसद में कहा है कि एक पूर्व प्रधानमंत्री का करीबी अधिकारी भी यौन शोषण घोटाले में शामिल रहा हो सकता है. वॉटसन ने मामले की जांच की मांग की है. उनका कहना है कि इस घोटाले में प्रधानमंत्री निवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट और संसद से जुड़े कुछ अहम लोग शामिल हो सकते हैं.

एमजी/एमजे (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

विज्ञापन