यूरोप में एक सरकार आई तो एक गई | दुनिया | DW | 01.06.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

यूरोप में एक सरकार आई तो एक गई

इस हफ्ते यूरोप में एक देश में सरकार बनी तो दूसरे देश में भ्रष्टाचार पर हुए अदालती फैसलों के बाद अचानक सरकार गिर गई. इटली में गुजेप कोंते और स्पेन में पेद्रो सांचेज सत्ता में आए.

स्पेन में नई सरकार

स्पेन में संसद में हुए विश्वास मत में प्रधानमंत्री मारियानो राखोय की हार के बाद सोशलिस्ट पार्टी के 46 वर्षीय नेता पेद्रो सांचेज देश में नई सरकार बनाएंगे. 2011 से स्पेन में राखोय की कंजरवेटिव पार्टी की सरकार थी. विपक्षी नेता के रूप में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रहे सांचेज ने सरकारी खर्च में कटौतियों का विरोध किया है. उन्होंने आजादी के विवादास्पद मुद्दे पर कैटेलोनिया की सरकार के साथ बातचीत शुरू करने की बात कही है.

सीमा पर चौकसी बढ़ी

जर्मनी और ऑस्ट्रिया की पुलिस ने सीमा पर चौकसी बढ़ा दी है. उनका कहना है कि यह कदम अपराध और अवैध आप्रवासन पर नियंत्रण के लिए उठाया गया है. इस सिलसिले में उठाए गए कदमों में सीमा पर तीन पुलिस कर्मियों की गश्त के अलावा मालगाड़ियों की जांच शामिल है. सुरक्षा कदमों की हर तीन महीने पर जांच की जाएगी.

इटली में पॉपुलिस्ट पार्टियों की सरकार

इटली में महीनों की सौदेबाजी और उतार चढ़ाव के बाद पांच सितारा आंदोलन और उग्र दक्षिणपंथी लीग पार्टी के बीच सरकार बनाने की डील हो गई है. जुसेप कोंते के नेतृत्व में शुक्रवार को नई सरकार जिम्मेदारी संभाल रही है. सारे मतभेदों के बावजूद ज्यादातर लोग चाहते हैं कि चुनाव जीतने वाली पार्टियां सरकार बनाएं और अपना काम करें.

लिथुएनिया और रोमानिया में सीआईए की गुप्त जेल

यूरोपीय अदालत ने अपने एक फैसले में लिथुआनिया और रोमानिया को मानवाधिकारों के उल्लघंन का दोषी पाया है. यूरोपीय जजों ने कहा है कि लिथुआनिया और रोमानिया का अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए को दो संदिग्ध अल कायदा सदस्यों को गुप्त जेलों में यातना की अनुमति देना 1950 की यूरोपीय मानवाधिकार संधि का उल्लंघन था. नागरिकता विहीन फलीस्तीनी अबु जबायदा को अमेरिकी अधिकारियों ने 2002 में पाकिस्तान में पकड़ा था और उसे 2005 में लिथुआनिया में गुप्त जेल में रखा गया. अमेरिकी नौसैनिक जहाज पर हमला करने के संदिग्ध सऊदी अरब के अल नशिरी को सीआईए ने 2004 से 2005 तक रोमानिया में गुप्त जेल में रखा. दोनों को कई सालों तक गुआंतानामो जेल में रखा गया.

यूरोप पर लोकतंत्र पर दोहरे मापदंड का आरोप

तुर्की के विदेश मंत्री मेवलुत चावुसोलू ने कहा है कि यूरोप और तुर्की को एक दूसरे की जरूरत है. लेकिन साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि यूरोप लोकतंत्र पर और तुर्की के साथ रिश्तों में दोहरे मापदंड दिखा रहा है. डॉयचे वेले के साथ एक इंटरव्यू में मेवलुत चावुसोलू ने कहा, "तुर्की को ईयू की जरूरत है और ईयू को तुर्की की जरूरत है. हमें इस बात का पता है लेकिन कुछ यूरोपीय देश तथ्यों को नहीं देखते."

पुलिस हटा रही है पेरिस में आप्रवासियों के ठिकाने

आप्रवासियों के मुद्दे पर फ्रांस में भी बहस चलती रही है. हाल में पुलिस ने राजधानी पेरिस में अवैध रिफ्यूजी कैंपों को हटा दिया. प्रशासन की योजना शहर के अन्य कैंपों को हटाने की भी है. पुलिस का दावा है कि वह भविष्य में इस पर नजर रखेगी कि ऐसे कैंप न बनें. 2015 से ही पूरा यूरोप शरणार्थी समस्या झेल रहा है. अब तक करीब 10 लाख लोग अफ्रीका और मध्य पूर्वी देशों से आकर यूरोप आए है.

रिफ्यूजियों की मदद करने वालों को हो सकती है जेल

यूरोपीय संघ की आप्रवासी नीतियों का विरोध करने वाले हंगरी अब रिफ्यूजियों को रोकने के लिए एक नया कानून बना रहा है. इस कानून के तहत हंगरी में अवैध ढंग से दाखिल हुए आप्रवासियों को कानूनी दर्जा दिलाने में मदद करने वाले समूहों और लोगों को कैद हो सकती है. इस विधेयक के खिलाफ कई अधिकार समूहों ने आवाज उठाई है. हाल में हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टर ओरबान ने चौथी बार देश में सरकार बनाई है. ओरबान अपनी आप्रवासी विरोधी अभियान के लिए जाने जाते हैं.

सोते हुए शेर वाला मोती हुआ नीलाम

ताजा पानी में मिला दुनिया का एक बड़ा मोती 31 मई को नीदरलैंड में नीलाम हो गया. यह मोती तकरीबन 7 सेंमी लंबा है जिसे जापान के एक व्यापारी ने 3.74 लाख डॉलर में खरीद लिया. इसका भार 120 किलोग्राम के करीब है. यह मोती आम मोतियों की तरह गोल नहीं है, देखने पर एक यह सोता हुआ शेर जैसा नजर आता है. यह दुनिया के तीन सबसे बड़े मोतियों में से एक है.

संबंधित सामग्री

विज्ञापन