यूरोपीय संघ से तलाक लेगा यूके | दुनिया | DW | 24.06.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

यूरोपीय संघ से तलाक लेगा यूके

यूनाइटेड किंगडम (यूके) के 52 फीसदी लोगों ने यूरोपीय संघ से अलग होने का फैसला किया है. जनमत संग्रह के नतीजों ने यूरोपीय संघ के साथ 43 साल पुराने रिश्ते पर वार किया है.

वीडियो देखें 00:46
अब लाइव
00:46 मिनट

ऐसे हुआ मतदान

लंदन और स्कॉटलैंड के लोगों ने यूरोपीय संघ में बने रहने के लिए बड़ी संख्या में वोट डाले. लेकिन उत्तरी इंग्लैंड के लोगों ने यूरोपीय संघ से अलग होने के पक्ष में वोट डाला. अब से कुछ ही देर पहले आए नतीजों को अलगाव का नारा देने वाली यूकिप पार्टी ने यूके की आजादी करार दिया है.

जनमत संग्रह के लिए 71.8 फीसदी मतदान हुआ. तीन करोड़ से ज्यादा लोगों ने वोट दिया. इंग्लैंड में 53.4 फीसदी लोगों ने ब्रेक्जिट के पक्ष में वोट दिया. ईयू का साथ पंसद करने वालों का वोट प्रतिशत 46.6 फीसदी रहा. नॉर्दन आयरलैंड में 42.2 परसेंट वोट ब्रेक्जिट के बॉक्स में गए. वेल्स के 52.4 फीसदी लोगों ने भी ब्रेक्जिट का एक्जिट चुना.

वहीं स्कॉटलैंड और लंदन के लोगों ने यूरोपीय संघ में बने रहने के पक्ष में मतदान किया. स्कॉटलैंड में कुल 10,18,322 लोगों ने वोट दिया और इनमें से 62 फीसदी ने यूरोपीय संघ के समर्थन में मतदान किया.

बीते 20 साल से यूरोपीय संघ के अलग होने का अभियान चला रहे यूकिप पार्टी के नेता नाइजेल फराज ने इसे "आम जनता और सौम्य जनता की जीत करार दिया है." फराज के मुताबिक 23 जून का गुरुवार "इतिहास में हमारी आजादी के तौर पर याद किया जाएगा." यूकिप नेता ने प्रधानमंत्री डेविड कैमरन से तुरंत इस्तीफा देने की मांग की है.

ब्रेक्जिट के पक्ष में आए नतीजे ने दुनिया भर के वित्तीय बाजार में खलबली मचानी शुरू कर दी है. यूके की मुद्रा पाउंड 1985 के बाद अपने सबसे निचले स्तर पर लुढ़क गई है.

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री

विज्ञापन