यमुना के उफान से दिल्ली में बाढ़ का खतरा | दुनिया | DW | 21.08.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

यमुना के उफान से दिल्ली में बाढ़ का खतरा

भारी बारिश की वजह से पूर्वोत्तर भारत के राज्यों में बाढ़. 50 हजार लोग प्रभावित. देश की राजधानी दिल्ली में भी बाढ़ का खतरा. खतरे के निशान पर ऊपर उफन रही है यमुना. तटीय इलाके खाली कराए गए.

default

उत्तराखंड और यूपी हो रही लगातार बारिश से यमुना नदी में बाढ़ आ गई है. दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से 11 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है. खतरे का निशान 204.83 मीटर है. नदी का पानी फैलता जा रहा है. दो साल पहले आई बाढ़ से सबक लेते हुए इस बार तटीय इलाकों को पहले ही खाली करा लिया गया है.

बाढ़ से तबाही पूर्वोत्तर भारत में फैल रही है. असम में 50 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. लखीमपुर जिले में कम से कम 40 गांव बाढ़ में डूब गए हैं. सिंगोरा नदी उफान पर है. जान बचाने के लिए कई गांवों के लोग रेलवे स्टेशन में शरण ले रहे हैं.

एक सरकारी अधिकारी ने कहा, ''ब्रह्मपुत्र में मिलने वाली सिंगोरा नदी के दो तटबंध टूट गए हैं. बाढ़ की वजह से 20 से 30 मीटर तक तटबंध कट गए हैं. यहां से बाढ़ का पानी बस्तियों में घुस चुका है.''

असम में प्रशासन ने अलर्ट घोषित कर दिया है. आपदा प्रबंधन की टीमों को तैयार रहने के लिए कहा गया है. जरूरी सामान गोदामों में भर दिया गया है. भारत में इस बार जोरदार मानसून आया है. उत्तर भारत में लगातार बारिश हो रही है. गृह मंत्रालय के मुताबिक अब तक 550 लोगों की मौत हो चुकी है.

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: वी कुमार

विज्ञापन