म्यूनिख में गोलीबारी, पुलिस के अनुसार आतंकी घटना नहीं | दुनिया | DW | 13.06.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

म्यूनिख में गोलीबारी, पुलिस के अनुसार आतंकी घटना नहीं

म्यूनिख में सबवे स्टेशन पर हुई गोलीबारी में एक महिला पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गयी है. पुलिस का कहना है कि मामला आतंकवाद से संबंधित नहीं लगता.

पुलिस अधिकारी की हालत गंभीर बतायी जा रही है. इस घटना में पुलिस अधिकारियों के अलावा दो स्थानीय यात्री भी घायल हुए हैं. उंटरफोएरिंग स्टेशन पर हुई गोलीबारी में घायल इन दो व्यक्तियों की हालत उतनी गंभीर नहीं है. म्यूनिख पुलिस के प्रवक्ता मार्कुस दा ग्लोरिया मार्टिन्स ने मौके पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा है कि संदिग्ध भी गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल है. ग्लोरिया मार्टिन्स ने कहा, "एक संदिग्ध था और हमने उसे पकड़ लिया है."

अधिकारियों का मानना है कि घटना का आतंकवाद से कोई लेना देना नहीं है और संदिग्ध ने व्यक्तिगत कारणों से कदम उठाया, इसके पीछे कोई धार्मिक या राजनीतिक वजहें नहीं थीं. पुलिस को यात्रियों के बीच हुए झगड़े के बाद स्टेशन पर बुलाया गया था. जब पुलिस वहां पहुंची तो संदिग्घ ने उन्हें रेल की पटरी पर धकेलने की कोशिश की. इस धक्का मुक्की में संदिग्ध ने एक पुलिसकर्मी का रिवॉल्वर खींच लिया और उससे कई गोलियां चलायी. उसके बाद उस पर गोलियां चलायी गयी और उसे हिरासत में ले लिया गया.

उंटरफोएरिंग बवेरिया की राजधानी म्यूनिख से सटा उपमहानगर है. यह जर्मनी के महत्वपूर्ण मीडिया केंद्रों में शामिल है. यहां फिल्म स्टूडियो होने के अलावा टीवी चैनलों और केबल कंपनियों के मुख्यालय हैं. मीडिया कंपनियों के अलावा यहां अलियांस जैसी बीमा कंपनियों का मुख्यालय भी है.

एमजे/आरपी (डीपीए, एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन