मोदी की वोटिंग के बाद आयोग में शिकायत | दुनिया | DW | 30.04.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मोदी की वोटिंग के बाद आयोग में शिकायत

बीजेपी से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आज गुजरात की जनता से माफी मांगी. लेकिन यह माफी इसलिए थी कि वे प्रांत में सिर्फ 18 घंटे ही चुनाव प्रचार कर पाए. गुजरात में लोकसभा की 26 सीटों के लिए मतदान हो रहा है.

देश भर में नौ राज्यों में बुधवार को 89 चुनाव क्षेत्रों में मतदान हो रहा है. इनमें आंध्र प्रदेश की 17 सीटें, उत्तर प्रदेश की 14, पंजाब की 13 और बिहार की सात सीटें शामिल हैं. हर कहीं मतदाताओं की लंबी लाइनें लगी हैं. गुजरात के अहमदाबाद शहर में वोट डालने के बाद नरेंद्र मोदी ने अपनी निशान लगी अंगुलियों के साथ एक सेल्फी तस्वीर खींची और जमा भीड़ के सामने "मां-बेटे की सरकार" के पतन की घोषणा की. लकदक सफेद पोशाक पहने मोदी ने कहा, "अब तक चुनाव की प्रक्रिया और मतदाताओं के दिमाग के विश्लेषण के बाद मैं कह सकता हूं कि मां-बेटे की सरकार को अब कोई नहीं बचा सकता. एक मजबूत सरकार सत्ता में आएगी."

कांग्रेस ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मतदान के दौरान अपनी पार्टी का चुनाव चिह्न प्रदर्शित करने और वोट डालने के बाद भाषण देने के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज की और उनके खिलाफ एफआईआर दायर करने की मांग की. मोदी गुजरात के वडोदरा से तथा बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी गांधीनगर से चुनाव मैदान में हैं.

चुनाव से पहले हुए सर्वे में सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस के बीजेपी से हारने की बात कही जा रही है. लेकिन चुनाव के अंतिम दौरों में सोनिया गांधी के बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा के सामने आने के बाद से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश आया है. प्रियंका गांधी हालांकि सिर्फ अपनी मां और भाई के चुनाव क्षेत्रों में प्रचार कर रही हैं लेकिन उन्होंने अपने तीखे बयानों से मोदी को जवाब देने की कोशिश की है. इस हफ्ते उन्होंने मोदी और बीजेपी के खिलाफ लड़ाई को दिल की लड़ाई बताया. मोदी को उनके हिन्दू राष्ट्रवादी विचारों और 2002 में गुजरात दंगों पर जल्द काबू न पाने के कारण ध्रुवीकरण करने वाला समझा जाता है.

इस दौर के मतदान में भारत के 80 करोड़ में से 14 करोड़ मतदाता भाग ले रहे हैं. देश के सबसे नए प्रांत तेलंगाना में लोकसभा की 17 और विधानसभा की 119 सीटों के लिए मतदान हो रहा है. हथियारबंद विद्रोह का शिकार रहे जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर की सीट के लिए भी मतदान हो रहा है. श्रीनगर सीट पर सुबह 11 बजे तक लगभग 14 प्रतिशत मतदान हुआ. अलगाववादी नेताओं ने चुनाव का वहिष्कार करने की अपील की है और मतदाताओं को सुरक्षा देने के लिए चाक चौबंद व्यवस्था की गई है. श्रीनगर की आम तौर पर सुनसान गलियों में सड़कों पर सैकड़ों सुरक्षाकर्मी गश्त लगा रहे हैं.

सात राज्यों और दो केंद्रशासित प्रदेशों की 89 सीटों पर आज दोपहर तक 25 से 45 प्रतिशत तक मतदान होने की खबर है. पश्चिम बंगाल की नौ सीटों के लिये भारी मतदान हो रहा है. राज्य में दोपहर तक 45 प्रतिशत मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर चुके थे. गुजरात, उत्तर प्रदेश, बिहार और पंजाब में दोपहर तक करीब 25 प्रतिशत मतदान होने की खबर है. तेलंगाना में मतदान की रफ्तार धीमी रही. वहां 10 बजे तक 14 प्रतिशत मतदान हुआ.

एमजे/एजेए (एएफपी, वार्ता)

संबंधित सामग्री