मैर्केल तीसरी बार बनीं चांसलर | दुनिया | DW | 17.12.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मैर्केल तीसरी बार बनीं चांसलर

जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल को तीसरी बार चांसलर चुन लिया गया है. जर्मन संसद बुंडेसटाग में इस मुद्दे पर हुई वोटिंग में उन्हें भारी बहुमत से नई सरकार का मुखिया चुना गया. संसदीय चुनावों के करीब तीन महीने बाद यह फैसला हुआ.

चांसलर अंगेला मैर्केल की सीडीयू-सीएसयू और एसपीडी पार्टियों ने सोमवार को गठबंधन समझौते पर दस्तखत किए. संसद में 59 वर्षीया मैर्केल के चुनाव के लिए प्रस्ताव पेश हुआ. संसद का अधिवेशन शुरू करते हुए संसद अध्यक्ष नॉर्बर्ट लामर्ट ने कहा कि संवैधानिक प्रावधानों के अनुरूप राष्ट्रपति योआखिम गाउक ने चुनाव के लिए मैर्केल के नाम का प्रस्ताव दिया है. इस पर संसद में बजी तालियों की गड़गड़ाहट पर टिप्पणी करते हुए लामर्ट ने कहा कि प्रदर्शनात्मक तालियां चुनाव की जगह नहीं ले सकतीं.

चांसलर के लिए संसद में गुप्त मतदान होता है. मैर्केल को चुने जाने के लिए सिर्फ सामान्य बहुमत की जरूरत थी, जो 316 सदस्यों की है. 631 सदस्यों वाली संसद में सीडीयू-सीएसयू और एसपीडी गठबंधन के 504 सदस्य हैं.

Bundestag Vereidigung Kanzlerwahl Berlin Horst Seehofer Angela Merkel Sigmar Gabriel Alexander Dobrindt Hans-Peter Friedrich Ronald Pofalla

मतदान के बीच मंत्रणा

तीसरी बार चांसलर बनने के बाद बुधवार को वे पहले दौरे पर पेरिस जाएंगी. फ्रांस के साथ जर्मनी के गहरे रिश्ते हैं लेकिन फ्रांसोआ ओलांद के राष्ट्रपति बनने के बाद से उनमें पुरानी गर्मी नहीं देखी जा रही है.

मैर्केल के नए मंत्रिमंडल की पहली बैठक मंगलवार शाम के लिए तय की गई है. इसमें नई सरकार की नई नियुक्तियों पर फैसला लिए जाने की संभावना है. नई सरकार में एसपीडी के जिगमार गाब्रिएल उप चांसलर और अर्थनीति मंत्री होंगे जबकि फ्रांक वाल्टर श्टाइनमायर नए विदेश मंत्री होंगे.

एमजे/आईबी (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन