मेलबर्न में जर्मन टेनिस खिलाड़ी कैर्बर रचेंगी इतिहास | खेल | DW | 28.01.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मेलबर्न में जर्मन टेनिस खिलाड़ी कैर्बर रचेंगी इतिहास

20 साल में पहली बार जर्मनी की किसी महिला टेनिस खिलाड़ी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन मुकाबले के फाइनल में जगह बनाई है. टेनिस खिलाड़ी आन्जेलिक कैर्बर ग्रांड स्लैम मुकाबले के फाइनल में विश्व नंबर एक सेरेना विलियम्स को टक्कर देंगी.

28 वर्षीया जर्मन खिलाड़ी आन्जेलिक कैर्बर के सामने अपने ही देश की पूर्व टेनिस चैंपियन रही स्टेफी ग्राफ के रिकॉर्ड की रक्षा करने की उम्मीदें होंगी. स्टेफी ग्राफ 1999 में फ्रेंच ओपन खिताब जीतने वाली आखिरी जर्मन महिला टेनिस खिलाड़ी हैं. ऑस्ट्रेलियन ओपन मुकाबले के सेमी फाइनल में ब्रिटेन की योहान्ना कोन्टा को हराकर फाइनल में पहुंची कैर्बर ने कहा, "मेरा फाइनल में पहुंचना पूरे जर्मन टेनिस के लिए बड़ी बात है." सिडनी में पैदा हुई ब्रिटिश नागरिक कोन्टा और केरबेर के बीच मुकाबला कड़ा रहा. कोन्ता पहले वीनस विलियम्स को हरा चुकी हैं.

बाएं हाथ की टेनिस खिलाड़ी कैर्बर ग्रैंड स्लैम टाइटल के मैच में सेरेना के सामने उतरने को लेकर खासी उत्साहित हैं. केरबेर ने कहा, "इस साल के पहले ग्रैंड स्लैम में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी के साथ खेलना शानदार होगा." विश्व नंबर 6 खिलाड़ी कैर्बर 1996 में मोनिका सेलेस और जर्मन खिलाड़ी आन्के हूबर के साथ खेले गए मैच के बाद किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली पहली जर्मन हैं.

स्टेफी ग्राफ के रिकॉर्ड की बराबरी करने के प्रश्न पर केरबेर ने कहा, "मुझे लगता है, सभी जर्मन इस पर साथ ही होंगे." उन्हें लास वेगास से आया ग्राफ का खास संदेश भी मिला है, जिसमें पूर्व नंबर एक टेनिस खिलाड़ी ने कैर्बर को शुभकामनाएं भेजी हैं. इससे पहले कैर्बर छह बार सेरेना विलियम्स के साथ खेली हैं, जिनमें से पांच बार विलियम्स ने जीत दर्ज की.

आरआर/एमजे (रॉयटर्स)

DW.COM

विज्ञापन