मेक्सिको, हत्या और ड्रग माफिया | दुनिया | DW | 21.01.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

मेक्सिको, हत्या और ड्रग माफिया

दिसंबर 2018 में मेक्सिको में जब हत्याओं का दौर जारी था, लोपेज ओब्राडोर इस वादे के साथ मेक्सिको के राष्ट्रपति बने कि सत्ता में काबिज होते ही वे अपराध मुक्त मेक्सिको बनाएंगे. लेकिन तस्वीर कुछ और ही है.

मेक्सिको के राष्ट्रपति लोपेज ओब्राडोर दिसंबर 2018 में अपराधों से ग्रस्त देश को हिंसा और हत्या से छुटकारा दिलाने के वादे के साथ सत्ता में आए, लेकिन हत्या के मामलों पर हाल ही में आए ताजा आंकड़ों में तस्वीर कुछ और ही है. आंकड़ों के मुताबिक 2019 में हत्या के करीब 35 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए, यानि हर दिन करीब 95लोगों ने अपनी जान गवाई. पिछले 20 सालों से मेक्सिको आपराधिक हत्या के मामलों के रिकॉर्ड रख रहा है. 2019 के आंकड़ों ने नया रिकॉर्ड बनाया है.

मेक्सिको के राष्ट्रपति का फेल वादा

सार्वजनिक सुरक्षा कार्यालय की रिपोर्ट के अनुसार 2018 के मुकाबले 2019 में हत्याओं के एक हजार मामले बढ़े हैं जो हत्या के मामले में 2.5 प्रतिशत की वृद्धि है. जून में हत्या और अपराध के सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए. हत्या के मामलों में तेजी आना राष्ट्रपति ओब्राडोर के लिए एक झटका है, क्योंकि वो देश की सुरक्षा को अलग नजरिए के साथ शांत करने के संकल्प के साथ सत्ता में आए थे. हालांकि, मेक्सिको के राष्ट्रीय स्वायत्त विश्वविद्यालय (यूएनएएम) में अपराध के मुद्दों पर काम करने वाले विशेषज्ञों के मुताबिक पिछले दो सालों में जनसंख्या को देखते हुए ये आंकड़े "व्यावहारिक रूप से समान" यानी स्थिर हैं.

यूएनएएम के विशेषज्ञ सैमुअल गोंजालेस रुइस बताते हैं कि हत्या की दर दो सालों में स्थिर रही है. 2018 में हत्या की दर प्रति एक लाख लोगों पर 23.22 प्रतिशत थी जो 2019 में सिर्फ 0.01 प्रतिशत बढ़ी है. मेक्सिको के कोलिमा शहर में हत्या के सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए. यह शहर प्रशांत तट के किनारे बसा है. कोलिमा शहर माया सभ्यता के खंडहर और खूबसूरत समुद्र तट की वजह से पर्यटकों के बीच लोकप्रिय है.

ड्रग और माफिया जिम्मेदार

मेक्सिको में पिछले दिनों हुई दो बड़ी घटनाओं ने नागरिकों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं. अक्टूबर में, लोपेस ओब्राडोर की सुरक्षा कैबिनेट ने अधिकारियों और अपराधियों के बीच खूनी इनकांउटर को रोकने के लिए ड्रग माफिया योआकिन "एल चापो" गुसमन के बेटे को रिहा करने का फैसला किया. तो वहीं नवंबर में अमेरिकी और मैक्सिकन नागरिकता वाले मॉर्मन परिवार के नौ सदस्यों की कार्टेल बंदूकधारियों ने निर्मम हत्या कर दी. ऐसी घटनाओं ने नागरिकों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

मेक्सिको में हो रही हत्याओं को अकसर अमेरिका में हो रहे अपराधों के साथ जोड़कर देखा जाता है. मध्य अमेरिकी देश में ड्रग से संबंधित हत्याएं भी अक्सर अमेरिका से तस्करी किए गए हथियारों से होती है. वहीं अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के मुताबिक मेक्सिको से सप्लाई हुए ड्रग की वजह से हर साल अमेरिका में 70 हजार मौतें हो रही हैं. मेक्सिको की सरकार ड्रग अपराधों की रोकथाम के लिए अमेरिका के साथ सहयोग बढ़ाने पर विचार कर रही है. न्यायिक सुधारों के जरिए प्राइवेट बातचीत को सबूत माने जाने और अभियुक्तों के प्रत्यर्पण को आसान बनाने का प्रस्ताव है.

एसबी/ एमजे (एपी,एएफपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

भारत में क्राइम के लिए कुख्यात शहर

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन