मेक्सिको की दीवार बनाने के लिए पेंटागन देगा और 3.6 अरब डॉलर | दुनिया | DW | 04.09.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

मेक्सिको की दीवार बनाने के लिए पेंटागन देगा और 3.6 अरब डॉलर

सेना के दूसरे खर्चों के लिए मुहैया कराए गए धन से एक बड़ी रकम को अमेरिका के रक्षा विभाग ने मेक्सिको की दीवार बनाने में लगाने का फैसला किया है. इसे लेकर राष्ट्रपति ट्रंप और अमेरिकी कांग्रेस के बीच घमासान होना तय है.

अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा है कि उनका मंत्रालय सैन्य निर्माण के लिए मिले 3.6 अरब डॉलर की रकम का इस्तेमाल अमेरिका की मेक्सिको से लगी सीमा पर 175 मील लंबी दीवार बनाने के लिए करेगा. यह राशि पहले 127 निर्माण परियोजनाओं पर खर्च के लिए तय की गई थी. पेंटागन ने अभी नहीं बताया है कि वे कौन से प्रोजेक्ट थे जिनके लिए तय की गई राशि को अब दावीर की मद में खर्च किया जाना है. इस बारे में अमेरिकी कांग्रेस के सदस्यों को अधिसूचना जारी की जानी है. पेंटागन ने बताया कि इस राशि का आधा हिस्सा अमेरिका के लिए प्रस्तावित सैन्य प्रोजेक्टों और बाकी आधा दूसरे देशों के लिए प्रस्तावित प्रोजेक्टों से आएगा.

रक्षा मंत्री एस्पर के इस फैसले ने पहले से चले आ रहे विवाद की आग में घी का काम किया है. ट्रंप प्रशासन और कांग्रेस पहले से ही आप्रवासियों के मुद्दे, उनसे जुड़ी नीतियों और दीवार की फंडिंग को लेकर आमने सामने हैं. इसी साल कुछ महीने पहले सांसदों ने दीवार बनाने के लिए 6 अरब डॉलर की रकम मंजूर करने से इनकार कर दिया था. एक बार फिर इस नई रकम को लेकर कांग्रेस में बहस छिड़ेगी और ये तय होगा कि जिन प्रोजेक्टों की राशि लेकर इसमें लगाई जानी है उनके लिए फिर से धन कहां से मुहैया कराया जाएगा. पेंटागन का कहना है कि वे प्रोजेक्ट केवल टाले गए हैं, रद्द नहीं किए गए.

सीनेट में न्यूयॉर्क से आने वाले डेमोक्रैट नेता चक शूमाकर ने इसे "सशस्त्र बल के सदस्यों के मुंह पर तमाचा" बताया है. उनका कहना है कि देश की सेवा करने वाली सेना के हिस्से का धन राष्ट्रपति ट्रंप केवल अपने अहम को संतुष्ट करने के लिए खर्च करना चाहते हैं. उन्होंने ट्रंप के उस वादे की भी याद दिलाई कि यह दीवार मेक्सिको के पैसों से बनए जाने की बात थी.

कांग्रेस ने इस साल के बजट से दीवार बनाने के लिए 1.375 अरब डॉलर की राशि मंजूर की थी. यह रकम पिछले साल के बराबर ही थी. जबकि ट्रंप इस मद में 5.7 अरब डॉलर की मांग कर रहे थे. इसके विरोध में फरवरी से शुरु होकर 35 दिनों तक सरकार का कामकाज बंद रहने के बाद ट्रंप ने यह राशि स्वीकार तो कर ली थी लेकिन साथ ही राष्ट्रीय आपालकाल घोषित कर दूसरे सरकारी खातों से धन जुटाना शुरु कर दिया. इस तरह उन्होंने करीब 8.1 अरब डॉलर राशि की पहचान की जिसे दीवार के काम में लगाया जा सकता है. इसमें 6 करोड़ डॉलर की राशि ट्रेजरी विभाग, 2.5 अरब डॉलर रक्षा विभाग के काउंटरड्रग प्रजेक्ट और अब 3.6 अरब डॉलर एक बार फिर रक्षा विभाग के ही दूसरे सैन्य निर्माण प्रोजेक्टों से लिए जाने की योजना है.

आरपी/ओएसजे (एपी, रॉयटर्स)

______________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | 

संबंधित सामग्री

विज्ञापन