मुफ्त में वाई फाई इंटरनेट सेवा | विज्ञान | DW | 12.05.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

मुफ्त में वाई फाई इंटरनेट सेवा

शहर भर में वाई फाई इंटरनेट सेवा वो भी अनलिमिटेड सालों से कई लोगों का सपना है. कुछ ने इस सपने को सच बनाने की कोशिश की है.

जर्मन शहर कार्ल्सरूहे देश का पहला ऐसा शहर बन गया है जो अनलिमिटेड और मुफ्त इंटरनेट वाई फाई सेवा दे रहा है. कोलोन जैसे और शहर भी ऐसा कर रहे हैं लेकिन वहां अक्सर डाटा और समय सीमित है.

अमेरिका के न्यू यॉर्क शहर में एक जमाने में यह चर्चा थी कि पुराने टेलीफोन बूथ वायरलेस हॉट स्पॉट्स में तब्दील कर दिए जाए. टॉवरस्ट्रीम और फॉन जैसी कंपनियों ने कोशिशें कि की ज्यादा से ज्यादा लोग उनके वायरलेस नेटवर्क का इस्तेमाल करें जिसके बदले ग्राहक कुछ पैसे चुकाएं या फिर वह एकदम मुफ्त हो. लेकिन इस तरह के नेटवर्क में कुछ अहम चिंताएं हैं खासकर सुरक्षा को लेकर. और इसलिए इस विचार पर अमल कर पाना मुश्किल हो रहा था. अब जर्मनी में कार्ल्सरूहे शहर हाल ही में इस मामले में अग्रणी बन गया. आईटी एक्सपर्ट बैर्न्ड श्ट्रेहबर कार्ल्सरूहे में 18वीं सदी में बने महल की बजती घंटियों की तरफ इशारा करते हैं. वह बताते हैं, "घंटी वाले टॉवर में वाई फाई कनेक्शन के छिपे हुए एंटीना लगाए गए हैं. यह महल सांस्कृतिक विरासत में शामिल है, इसलिए हमें उन्हें अंदर की तरफ लगाना पड़ा ताकि उन्हें देखा न जा सके."

Das Karlsruher Schloss

कार्ल्सरूहे महल के गार्डन में मुफ्त में इंटरनेट सेवा का आनंद लिया जा सकता है.

शहर में नगरपालिका के एक साल के वाई फाई प्रोजेक्ट के तहत ये एंटीना लगाए गए हैं. इस प्रोजेक्ट के जरिए कार्ल्सरूहे के खुले इलाकों में मुफ्त वाई फाई सेवा दी जाती है. महल के बागानों, मुख्य स्टेशन और शहर के कई भीतरी इलाकों में मुफ्त में इंटरनेट का मजा उठाया जा सकता है.

इस सेवा का नाम KA-WLAN है और इसे हाल ही में शुरू किया गया है. कोलोन जैसे और शहरों ने भी इस तरह की सेवा हाल ही में शुरू की है. इन शहरों में वाणिज्यिक ऑपरेटर सेवा मुहैया कराते हैं.

कार्ल्सरूहे में श्ट्रेहबर अपनी जेब से स्मार्ट फोन निकालते हैं और वायरलेस सिग्नल तलाशते हैं. कुछ ही देर में उनके मोबाइल की स्क्रीन पर वाई फाई रजिस्ट्रेशन का पन्ना आ जाता है. जर्मन के अलावा अंग्रेजी में भी रजिस्ट्रेशन वाला पन्ना उपलब्ध है. फ्रेंच भाषा भी जोड़ने की योजना है क्योंकि यहां से फ्रांस की सीमा सिर्फ 15 किलोमीटर दूर है. वाई फाई के लिए नए यूजर को अपने नाम के साथ ईमेल का पता या फिर मोबाइल नंबर देना होता है. उसके बाद उन्हें एक कोड मिलता है जिसके जरिए वे इंटरनेट का मजा अपने लैपटॉप, टैबलेट या फिर मोबाइल फोन पर ले सकते हैं. दुनिया के कई देशों में मुमकिन है कि आप अपनी निजी जानकारी दिए बिना वाई फाई का इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन जर्मन कानून इस मामले में साफ नहीं है कि वायरलेस सेवा देने वाले अपने नेटवर्क में अवैध सामग्री के लिए उत्तरदायी है या नहीं. तो इसको सुनिश्चित करने के लिए कि गलत काम करने वालों की पहचान हो सके. वाई फाई इस्तेमाल करने वालों को हमेशा रजिस्टर करने के लिए कहा जाता है.

श्ट्रेहबर INKA (इंका) के संस्थापक सदस्य हैं. इंका गैर वाणिज्यिक इंटरनेट सेवा देता है. KA-WLAN के कई समर्थक संगठनों में से इंका भी एक है. कार्ल्सरूहे में इंका ने कार्ल्सरूहे इंस्टि्यूट ऑफ टेकनोलॉजी के विशाल वाई फाई सिग्नल का इस्तेमाल दूसरे इलाकों में बढ़ाने के लिए किया. कार्ल्सरूहे इंस्टीयूट ऑफ टेकनोलॉजी (किट) एक ऐसा विश्वविद्यालय है जहां 24 हजार छात्र पढ़ते हैं और 9 हजार कर्मचारी काम करते हैं. किट शहर के केंद्र में स्थित है और इसके वाई फाई नेटवर्क को शहर के अन्य भाग तक पहुंचाना आसान और सस्ता है.

कई जर्मन शहरों में वाई फाई हॉट स्पॉट्स के जरिए सिर्फ 30 या 60 मिनट इंटरनेट एक दिन में इस्तेमाल किया जा सकता है. जर्मनी की राजधानी बर्लिन और हैम्बर्ग में इसी मॉडल का इस्तेमाल होता हैं. इन शहरों में वाणिज्यिक प्रदाता मुफ्त वाई फाई सेवा देते हैं. म्यूनिख और कोलोन जैसे शहरों में एक घंटा इंटरनेट इस्तेमाल करने के बाद कनेक्शन खुद बखुद कट जाता है. हालांकि यह मुमकिन है कि आप दोबारा लॉग इन कर लें और मुफ्त इंटरनेट का मजा ले सकें.

रिपोर्ट: केट हेयरसिन/ एए

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री

विज्ञापन