मुंबई ने हमें धो डाला: कुंबले | खेल | DW | 17.04.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

खेल

मुंबई ने हमें धो डाला: कुंबले

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान अनिल कुंबले ने कहा कि मुंबई इंडियन्स ने बहुत अच्छा खेला और हमें हरा दिया. शनिवार को मुंबई इंडियन्स ने लीग के आख़िरी मैच में बैंगलोर को पटखनी दी.

default

जीत के साथ ही आईपीएल की अंकतालिका में चोटी पर सवार मुंबई इंडियन्स के बीस नंबर हासिल कर लिए हैं. वहीं बैंगलोर के 14 अंक हैं और उसकी सेमीफ़ाइनल में पहुंचने की उम्मीदें अब लीग के दूसरे मैचों पर निर्भर हो गई हैं क्योंकि अब फैसला रन रेट के आधार पर होगा. अपने सभी लीग मैचों में बैंगलोर के हाथ अब तक 14 अंक ही लगे और उसका नेट रन रेट 0.219 है.

हार से मायूस बैंगलोर के कप्तान कुंबले ने जीत का पूरा श्रेय मुंबई इंडियन्स के शानदार खेल को देते हुए कहा, "हमें उन्हें इस बड़ी जीत का श्रेय देना ही होगा. उन्होंने हर तरह से हमसे बेहतर प्रदर्शन किया. हमने शुरुआत अच्छी की लेकिन कुछ कैच छोड़ दिए. पहले छह ओवर में रनों की दौड़ में हम अटक गए जिस वजह से मैच हमारे लिए मुश्किल हो गया."

मैच के बाद कुंबले से पत्रकारों से बातचीत में कहा,"हमारी नीति जीतने की ही थी. हमने रन रेट के बारे में सोचा ही नहीं और मैच हमारे हाथ से फिसलने लगा. हम मुंबई के लक्ष्य के नज़दीक जाना चाहते थे. हमने इस हार से सबक सीखा है. लेकिन हमने 14 मैच खेले हैं और सेमीफ़ाइनल में पहुंचने की हमारी दावेदारी मज़बूत है."

Indias Harbhajan Singh

भज्जी ने 24 रन देकर चटकाए दो विकेट

मैच शुरू होने के पैंतालीस मिनट बाद ही स्टेडियम के बाहर कम तीव्रता वाले बम धमाके हुए. कुंबले का कहना था कि बैंगलोर का होने के कारण उनका कर्तव्य था कि वे खिलाड़ियों के मनोबल को ऊंचा रखे. "हमने आवाज़ सुनी. सुरक्षा कर्मियों ने हमें सावधान रहने को कहा और स्थिति के बारे में जानकारी देने को कहा. कोई भी खिलाड़ी मैच छोड़ना नहीं चाहता था सब खेलने को तैयार थे. बैंगलोर चूंकि मेरा शहर है इसलिए खिलाड़ियों के मनोबल को ऊंचा रखना मेरी ज़िम्मेदारी थी."

शनिवार को बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम के बाहर हुए दो धमाकों की वजह से मैच एक घंटा देरी से शुरू हुआ. लेकिन मुंबई के खिलाड़ियों ने साबित कर दिया कि सचिन तेंदुलकर के जल्द आउट होने के बावजूद वह बड़ा स्कोर खड़ा कर सकते हैं. बैंगलोर ने टॉस जीतकर मुंबई से पहले बैटिंग करने को कहा. मुंबई ने चार विकेट खोकर 191 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. इसके बाद मुंबई के गेंदबाजों ने बैंगलोर के बल्लेबाजों को 9 विकेट के नुकसान पर 134 रन तक ही सीमित कर दिया. चिन्नास्वामी स्टेडियम पर 13 मैचों में मुंबई की यह दसवीं जीत है.

192 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी बैंगलोर की टीम का टॉप ऑर्डर मुंबई की कसी हुई गेंदबाजी के सामने लचर साबित हुआ. कोई भी बल्लेबाज बड़ा स्कोर करने में नाकाम रहा. सबसे ज्यादा रन विराट कोहली ने बनाए. उन्होंने 24 गेंदों पर 37 रन बनाए लेकिन अपने आखिरी लीग मैच में उनकी टीम के अन्य सभी बल्लेबाज नाकाम साबित हुए.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा मोंढे

संपादनः ओ सिंह

संबंधित सामग्री