मराठा मंदिर में डीडीएलजे के हजार हफ्ते | मनोरंजन | DW | 06.10.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

मराठा मंदिर में डीडीएलजे के हजार हफ्ते

बॉलीवुड की ब्लॉकबस्टर फिल्म दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे डीडीएलजे इस साल मराठा मंदिर सिनेमाहॉल में 1000 हफ्ते पूरे करेगी. बॉक्स ऑफिस पर कई रिकॉर्ड तोड़ने वाली इस फिल्म के 20 साल बाद पर्दे से उतरने का खतरा है.

default

शाहरुख खान और काजोल की जोड़ी वाली यशराज बैनर तले बनी फिल्म दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे 20 अक्टूबर 1995 को रिलीज हुई थी. यह फिल्म आज भी मराठा सिनेमा मंदिर में चल रही है. चर्चा है कि अब यह फिल्म पर्दे से उतर सकती है. फिल्मी दुनिया से जुड़े पंडित संभावना जता रहे हैं कि दिसंबर में यह फिल्म पर्दे से उतर जाएगी.

मराठा मंदिर के मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज देसाई के मुताबिक, "फिल्म के 900 हफ्ते चलने के बाद हमने और यशराज प्रोडक्शन ने तय किया है कि इसे पूरे 1000 हफ्ते तक चलाएंगे जो 12 दिसंबर को पूरे हो रहे हैं. फिलहाल हमें प्रोडक्शन हाउस की ओर से ऐसी कोई खबर नहीं मिली है."

पिछले 20 सालों से डीडीएलजे मराठा मंदिर में दर्शकों को खींचती आ रही है. इस दौरान सैकड़ों फिल्में रिलीज हुईं लेकिन कोई डीडीएलजे जैसा रिकॉर्ड नहीं बना पाई.

देसाई का कहना है कि, "हम उनके कॉल का इंतजार कर रहे हैं ताकि हम फिल्म को 1000 हफ्ते से आगे ले जाने पर फैसला कर सकें. अगर हमें उनकी ओर से कोई खबर नहीं मिलती है, तो हम फिल्म को बंद कर देंगे."

एए/एमजे (वार्ता)

DW.COM

विज्ञापन