भोपाल गैस कांड पर हॉलीवुड फिल्म पर विवाद | मनोरंजन | DW | 22.06.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

भोपाल गैस कांड पर हॉलीवुड फिल्म पर विवाद

भोपाल गैस कांड पर हॉलीवुड में बन रही एक फिल्म पर जम कर विवाद हो रहा है. औद्योगिक हादसे के शिकार एक ग्रुप का कहना है कि इससे त्रासदी की जिम्मेदार अमेरिकी कंपनी की भूमिका दब जाएगी.

default

भोपालः प्रेयर फॉर रेन बन कर तैयार है और इस साल दिसंबर में रिलीज़ होने वाली है. इस फिल्म में मार्टिन शीन ने मुख्य रोल निभाया है. फिल्म में दिसंबर, 1984 के गैस कांड के बाद की कहानी है. इस औद्योगिक हादसे में 15000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी और पांच लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए थे.

Flash-Galerie Giftgaskatastrophe Bhopal

शीन ने वॉरेन एंडरसन की भूमिका निभाई है. एंडरसन भोपाल गैस कांड के वक्त यूनियन कार्बाइड कंपनी के मुखिया थे. वह भारत में भगोड़े घोषित किए जा चुके हैं. उन पर कई आरोपों में मुकदमे दर्ज हैं. भोपाल ग्रुप फॉर इंफॉर्मेशन एंड एक्शन की प्रवक्ता रचना ढींगरा ने कहा, "ऐसा लगता है कि निर्देशक ने फिल्म में वॉरेन एंडरसन के रोल को सही साबित करने की कोशिश की है. इसके अलावा कई तथ्यों को गलत तरीके से पेश किया गया है."

ढींगरा ने कहा कि उन्होंने फिल्म की पटकथा तो पढ़ी है लेकिन उन्होंने फिल्म नहीं देखी है. उनका कहना है, "किसी को भी तथ्यों से छेड़छाड़ करने का अधिकार नहीं है." ढींगरा चाहती हैं कि वे फिल्मकारों से मिल कर इसमें कुछ सुधार कराएं.

Flash-Galerie Giftgaskatastrophe Bhopal

फिल्म के निर्देशक रवि कुमार फिलहाल टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं हो पाए. हालांकि शीन ने भारत में एक टेलीविजन चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि उन्हें वॉरेन एंडरसन से कोई सहानुभूति नहीं है, जो हादसे के बाद भारत से भाग गए थे.

भोपाल की यूनियन कार्बाइड फैक्ट्री में 2 दिसंबर 1984 की रात 40 टन ज़हरीली गैस का रिसाव हो गया, जो आस पास के रिहाइशी इलाकों में फैल गई. फिल्म ऐसे वक्त में रिलीज़ हो रही है, जब हाल ही में भारत की एक अदालत ने इस मामले के दोषियों को दो दो साल की सजा सुनाई है. आम लोगों में इस फैसले के प्रति असंतोष है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः राम यादव

संबंधित सामग्री

विज्ञापन