भारत से आई संदिग्ध चिट्ठियों से ग्रीस में हड़कंप | दुनिया | DW | 11.01.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत से आई संदिग्ध चिट्ठियों से ग्रीस में हड़कंप

ग्रीस की 12 यूनिवर्सिटियों को भारत के खत भेजे गए. चिट्ठियों में खतरनाक रसायनों का इस्तेमाल किया गया था. ग्रीस ने आतंकवाद के एंगल से मामले की जांच शुरू की.

राजधानी एथेंस समेत पूरे ग्रीस में फैली 12 यूनिवर्सिटियों में भारत से भेजे गए पत्र पहुंचे. खतों में भारत के डाक टिकट लगे हुए हैं. लिफाफे में बंद चिट्ठियों को जब खोला गया तो लोग बीमार पड़ गए. ग्रीस की पुलिस के मुताबिक कुछ चिट्ठियों के बाहर अंग्रेजी में "इस्लामिस्ट कंटेंट" लिखा गया है.

ग्रीस के सिविल प्रोटेक्शन मामलों के महानिदेशालय के मुताबिक, चिट्ठियों में तकलीफ देने वाले रसायनों का इस्तेमाल किया गया है. खतों की स्याही और लिफाफे को चिपकाने वाली गोंद में खुजली और एलर्जी भड़काने वाले तत्वों का इस्तेमाल किया गया है.

एक खत नौ जनवरी को लेसबोस द्वीप की एजियन यूनिर्सिटी पहुंचा. पत्र यूनिवर्सिटी के रेक्टर को भेजा गया था. अधिकारियों के मुताबिक इस खत के संपर्क में आने वाले सात लोग बीमार हो गए. उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगी. 

मामले की जांच पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते को सौंप दी गई है. लैब में किए गए टेस्टों में पता चला कि खतों में इंडस्ट्रियल इरिटेंट का इस्तेमाल किया गया है. सेहत को नुकसान पहुंचाने वाले रसायनों की वजह से ही स्टाफ मेम्बरों को एलर्जी हुई.

इस मामले में अब ग्रीस की जांच एजेंसियां भारतीय अधिकारियों से भी संपर्क करेंगी. इस घटना के कुछ समय पहले ही ऑस्ट्रेलिया में भारत, ब्रिटेन और जर्मनी समेत 25 देशों के उच्चायोगों और दूतावासों में हानिकारक रसायनों से भरे खत भेजे गए थे. ऑस्ट्रेलियाई जांच एजेंसियां रासायनिक हमले के एंगल से मामले की जांच कर रही हैं.

(ये हैं सबसे खतरनाक रासायनिक हथियार)

ओएसजे/एमजे (रॉयटर्स)

DW.COM

विज्ञापन