भारत में फिर बलात्कार और निर्मम हत्या | दुनिया | DW | 09.03.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत में फिर बलात्कार और निर्मम हत्या

भारत में सख्त कानूनों के बावजूद महिलाओं पर अपराध रुक नहीं रहे. राजधानी नई दिल्ली के निकट अपराध का शिकार हुई एक लड़की की अस्पताल में मौत हो गई है, जिसे बलात्कार के बाद जला दिया गया था.

जब 15 वर्षीया लड़की को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया तो उसकी 95 प्रतिशत त्वचा जल चुकी थी. पुलिस ने 20 साल के संदिग्ध अपराधी को गिरफ्तार कर लिया गया है जिसपर लड़की के घर में घुसकर उस पर हमला करने का आरोप है. उस पर कई महीनों से उस लड़की को तंग करने का भी आरोप है.

लड़की के परिवार वालों ने कहा है कि अभियुक्त कई महीनों से लड़की का पीछा कर रहा था. लड़की के पिता ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी और पुलिस ने अभियुक्त को पिछले साल चेतावनी भी दी थी. पुलिस ने अभियुक्त को गिरफ्तार करने के बाद मंगलवार पर उस पर बलात्कार और हत्या की कोशिश के आरोप लगाए. पुलिस का कहना है कि अब उसे बदल कर हत्या की धाराएं लगाई जाएंगी.

भारत के नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार 2010 से महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में 7.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. बलात्कार की शिकायतों में भी इजाफा हुआ है. बलात्कार का शिकार होने वाली महिलाओं में करीब एक तिहाई 18 साल से कम उम्र की हैं जबकि 10 प्रतिशत पीड़ितों की उम्र 14 से कम है. आंकड़ों के अनुसार हर 20वें मिनट एक महिला के साथ बलात्कार होता है.

तीन साल पहले दिल्ली में एक छात्रा के बलात्कार और हत्या के बाद भारी विरोध हुआ था. उसके बाद बलात्कार कानून और सख्त बना दिया गया लेकिन महिलाओं और लड़कियों के साथ छेड़खानी, हिंसा और बलात्कार के मामले कम होते नहीं दिख रहे.

एमजे/आईबी (डीपीए, एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री