भारत में चुनाव के पांचवें दौर में 51 सीटों पर मतदान जारी | भारत | DW | 06.05.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

भारत में चुनाव के पांचवें दौर में 51 सीटों पर मतदान जारी

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में में उत्तर प्रदेश से 14, राजस्थान से 12, मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल की सात-सात, बिहार की पांच, झारखंड की चार और जम्मू कश्मीर की दो सीटें पर मतदान हो रहा है.

साल 2014 के चुनावों में इन 51 सीटों में से 39 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल की थी. राजस्थान में 12, उत्तरप्रदेश की 14 सीटों में से 12, मध्य प्रदेश में पूरी सात, बिहार में पांच में से तीन, झारखंड में सभी चारों और जम्मू एवं कश्मीर की दो में से एक सीट पर बीजेपी को जीत मिली थी. 

कांग्रेस ने केवल अमेठी और रायबरेली में जीत का स्वाद चखा था. इस चरण में कई प्रमुख सीटों पर मुकाबला है. उत्तरप्रदेश में कांग्रेस का गढ़ रही अमेठी और रायबरेली सीटों पर कांग्रेस-भाजपा में टक्कर देखने को मिलेगी. रायबरेली से संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष सोनिया गांधी मैदान में हैं जिन्होंने 2004 में यह सीट जीती थी. उनका मुकाबला पूर्व कांग्रेसी नेता और अभी के भाजपा उम्मीदवार दिनेश प्रताप सिंह से है.

अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बीच रोचक मुकाबला है. इस चरण में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह (लखनऊ), जयंत सिन्हा (हजारीबाग) और राज्यवर्धन सिंह राठौर (जयपुर) चुनाव मैदान में हैं. पांचवें चरण के मतदान में उत्तर प्रदेश में बहुत सी सीटें वही हैं, जहां 2014 में भाजपा ने जीत दर्ज की थी, लेकिन इस बार उन्हें समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी से कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है.

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में उत्तर प्रदेश की 14 लोकसभा सीटों के लिए आज वोट डाले जा रहे हैं. मतदान सुबह सात से शुरू हुआ और शाम छह बजे संपन्न होगा. इसी कड़ी में गृह मंत्री व लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह ने गोमतीनगर में स्कॉलर्स होम स्कूल में आज सोमवार सुबह 7.30 बजे वोट डाला. मतदान केंद्र से बाहर आने के बाद उन्होंने कहा, "इस बार जीत का अंतर पहले से बेहतर रहेगा. सभी लोग मताधिकार का प्रयोग करें, यह लोकतंत्र के हित में है."

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भी वोट डाला. उन्होंने कहा, "लोग सोच-समझकर वोट डालें. महिलाएं घर से निकल कर भी वोट करें. आपका वोट बहुत कीमती है." पांचवें चरण में धौरहरा, सीतापुर, मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, बाराबंकी, फैजाबाद, बहराइच, कैसरगंज और गोंडा संसदीय क्षेत्रों में वोट डाले जा रहे हैं.

जम्मू और कश्मीर की लद्दाख और अनंतनाग लोकसभा सीटों पर सोमवार को मतदान जारी है. लेह और कारगिल जिलों में उत्साहित मतदाता सुबह से ही मतदान केंद्रों पर कतार में नजर आए. इसके उलट, अनंतनाग लोकसभा सीट में तीसरे और अंतिम चरण के मतदान में शोपियां और पुलवामा जिलों में मतदान केंद्रों पर लोगों की उपस्थिति बेहद कम रही. दोनों लोकसभा सीटों पर सुबह 7 बजे से मतदान जारी है. हालांकि अनंतनाग क्षेत्र में मतदान प्रक्रिया शाम चार बजे और लद्दाख में शाम 6 बजे समाप्त होगी. इसके अलावा शोपियां जिले के पहाड़ी गांव शाहदाब करेवा में बड़ी संख्या में मतदाता नजर आए.

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में पश्चिम बंगाल की सात लोकसभा सीटों पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच सोमवार को मतदान चल रहा है. निर्वाचन क्षेत्र -बैरकपुर, बनगांव, हावड़ा, उलुबेरिया, श्रीरामपुर, हुगली और आरामबाग - उत्तर 24 परगना, हावड़ा और हुगली जिलों में फैले हुए हैं. पांच साल पहले हुए आम चुनाव में ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने सभी सात सीटों पर जीत दर्ज की थी.

बंगाल में 1.16 करोड़ से अधिक मतदाता, जिनमें 60.04 लाख पुरुष, 56.86 लाख महिलाएं और 211 अन्य मतदाता शामिल हैं, 13,920 मतदान केंद्रों पर वोट डालकर 83 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे. उम्मीदवारों में 70 पुरुष और 12 महिलाएं शामिल हैं.

पिछले चरणों में हुई हिंसा व एक मतदाता की मौत के बाद चुनाव आयोग ने मतदान केंद्रों की सुरक्षा व निगरानी केंद्रीय बलों से कराने का फैसला किया. कुल मिलाकर, केंद्रीय बलों की 578 कंपनियों को राज्य पुलिस की मदद करने के लिए तैनात किया गया है. राज्य में अब 12 मई और 19 मई को मतदान होना है. 

राजस्थान की 12 संसदीय सीटों के लिए मतदान सुबह सात बजे से शुरू हुआ. राज्य में लोकसभा चुनाव का यह दूसरा चरण है. केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को वोट डालने के लिए अपने माता-पिता और पत्नी के साथ कतार में खड़े देखा गया.

राज्य में कुल 134 उम्मीदवार इन सीटों पर किस्मत आजमा रहे हैं, जिनमें 12 महिलाएं शामिल हैं, जबकि लगभग 2.30 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं. सबसे अधिक उम्मीदवार जयपुर में बताए गए हैं, जबकि सबसे कम दौसा संसदीय सीट पर हैं.

बिहार में पांचवें चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के लिए सोमवार को सुबह सात बजे से प्रारंभ मतदान शंतिपूर्ण ढंग से जारी है. बिहार में वर्ष 2014 के चुनावों से लेकर अब स्थिति बदल चुकी है. पिछली बार जनता दल-यूनाइटेड भाजपा के खिलाफ मैदान में था, लेकिन इस बार जेडीयू और बीजेपी साथ में चुनाव लड़ रहे हैं. इन्हें राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस और दूसरी पार्टियों से कड़ी चुनौती मिलने की उम्मीद है.

पांचवें चरण में बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से पांच हाजीपुर, सारण, मुजफ्फरपुर, मधुबनी और सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्रों में मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं. इन क्षेत्रों में 87.66 लाख से ज्यादा मतदाताओं के लिए 8,899 मतदान केंद्र बनाए गए हैं.

आईएएऩएस

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन