भारत ने भी रोक दी बोइंग 737 मैक्स 8 की उड़ान | दुनिया | DW | 13.03.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

भारत ने भी रोक दी बोइंग 737 मैक्स 8 की उड़ान

इथियोपियन एयरलाइंस हादसे के बाद से लगातार ही बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों के इस्तेमाल पर सवाल उठ रहे हैं. अब भारत ने भी इसके परिचालन पर रोक लगा दी है.

कई यूरोपीय देशों के बाद अब भारत ने भी बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है. भारतीय विमान नियामक, नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने साफ किया है कि बुधवार शाम 4 बजे के बाद देश में परिचालित हो रहे सभी बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों को खड़ा कर दिया जाएगा. बीते रविवार इथियोपियन एयरलाइंस का एक ऐसा ही विमान उड़ान भरने के चंद मिनटों बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस हादसे में चार भारतीय समेत 157 लोगों की मौत हो गई.

नागर विमानन मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा है, "यह समयसीमा ऐसी परिस्थितियों को ध्यान में रख कर तय की गई है ताकि विमान मैंटेनेंस सुविधाओं तक जा सके और अंतरराष्ट्रीय विमान भी अपने तय ठिकाने पर पहुंच सकें."

मंत्रालय ने ये भी कहा है कि ये विमान तब तक उड़ान नहीं भरेंगे, जब तक कि परिचालन से जुड़े जरूरी सुधार एवं सुरक्षा उपाय नहीं कर लिए जाते. इसके पहले 12 मार्च को मंत्रालय ने कहा था इन विमानों की उड़ान पर जल्द से जल्द रोक लगाई जाएगी. देश की दो टॉप एयरलाइन कंपनियां जेट एयरवेज लिमिटेड और स्पाइस जेट लिमिटेड के बेड़े में ये विमान हैं. ग्लोबल एविशयन इंडस्ट्री पर नजर रखने वाली साइट फ्लाइटग्लोबल के मुताबिक स्पाइस जेट के पास ऐसे 13 विमान हैं. हालांकि कंपनी ने साफ किया है कि वह तय समयसीमा में अपने बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों का परिचालन रोक देगी.

जेट एयरवेज ने टि्वटर पर लोगों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि कंपनी इस प्रकार के विमान का इस्तेमाल नहीं करती है. जेट एयरवेज इन दिनों आर्थिक तंगी से जूझ रही है. कंपनी का कहना है कि लाभ न होने के चलते वह पहले ही अपने 32 विमानों की उड़ान पर रोक लगा चुकी है. हालांकि इन 32 में से कौन कौन से विमान शामिल हैं इस पर कंपनी ने कुछ नहीं कहा है.

फ्लाइट ट्रैकिंग कंपनी फ्लाइटराडार24 के डाटा मुताबिक हैं कि जेट एयरवेज, इथोपियन एयरलाइन के हादसे से पहले ही अपने एक चालू 737 मैक्स जेट के परिचालन पर रोक लगा चुकी थी.

भारत के अलावा, इथियोपिया, ब्रिटेन, सिंगापुर, चीन, फ्रांस, आयरलैंड, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया और मलेशिया समेत 18 देश बोइंग 737 मैक्स 8 के इस्तेमाल पर अस्थायी रूप से रोक लगा चुके हैं.

एए/ओएसजे (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन