भारत ने टिक टॉक समेत ये 59 चीनी ऐप्स किए बैन | भारत | DW | 29.06.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

भारत ने टिक टॉक समेत ये 59 चीनी ऐप्स किए बैन

चीन के साथ तनाव के बीच भारत सरकार ने 59 मोबाइल ऐप्स पर बैन लगा दिया है. इनमें ज्यादातर टिक टॉक, यूसी ब्राउजर, लाइकी और शेयर इट जैसे लोकप्रिय ऐप्स हैं.

सोमवार को भारत सरकार ने कहा कि सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए यह फैसला किया गया है. सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि 1.3 अरब भारतीयों की प्राइवेसी और डाटा सुरक्षा को लेकर चिंताएं बढ़ रही थीं. इन चिंताओं को देश की संप्रभुता और सुरक्षा के लिए भी खतरा बताया गया है. 

बयान के मुताबिक, "सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय को विभिन्न स्रोतों से शियाकतें मिलीं. इनमें एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म्स पर उपलब्ध मोबाइल ऐप्स के दुरुपयोग के बारे में रिपोर्टें भी शामिल हैं."
सरकार का फैसला टिक टॉक के लिए खास तौर से बड़ा झटका है, जिनके भारत में अनुमानित 12 करोड़ यूजर हैं. जिन अन्य अहम ऐप्स को बैन किया गया है उनमें वीचैट भी शामिल है.

जिन ऐप्स को बैन किया गया है, वे सभी इस प्रकार हैं: 
टिक टॉक, शेयर इट, क्वाई, यूसी ब्राउजर, बाइदु मैप, शाइन, क्लैश ऑफ किंग्स, डीयू बैटरी सेवर, हेलो, लाइकी, यूकैम मेकअप, क्यूक्यू न्यूजफीड, एमआई कम्युनिटी, सीएम ब्राउजर्स, रोमवे, क्लब फैक्ट्री, डीयू रिकॉर्डर, वाउल्ट हाइड, कैशे क्लीनर, डीयू ब्राउजर, हागो प्ले विद न्यू फ्रेंड्स, कैम स्कैनर, क्लीन मास्टर- चीता मोबाइल, वंडर कैमरा, फोटो वंडर, क्यूक्यू प्लेयर, वीमीट, स्वीट सेल्फी, बाइदु ट्रांसलेट, वीमैट, क्यूक्यू इंटरनेशनल, क्यूक्यू सिक्योरिटी सेंटर, क्यूक्यू लॉन्चर, यू वीडियो, वी फ्लाई स्टेटस वीडियो, मोबाइल लीजेंड्स, डीयू प्राइवेसी, न्यूजडॉग, ब्यूटी प्लस, वीचैट, यूसी न्यूज, क्यूक्यू मेल, वाइबो, शेंडर, क्यूक्यू म्यूजिक, बिगो लाइव, सेल्फीसिटी, मेल मास्टर, पैरेलल स्पेस, एमआई वीडियो कॉल-शिआयोमी, वीसिंक, ईएस फाइल एक्सप्लोरर, वीवा वीडियो-क्यूयू वीडियो इंक, माइतू, वीको वीडियो और न्यूज वीडियो स्टेटस.

चीनी ऐप्स पर बैन लगाने का फैसला ऐसे समय में सामने आया है जब भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव चल रहा है. इसी के चलते पिछले दिनों भारत के 20 सैनिक मारे गए. काफी समय से भारत में कई लोग ना सिर्फ चीनी ऐप्स को बैन करने की मांग कर रहे थे, बल्कि वे चीनी सामान का बहिष्कार करने की अपील भी कर रहे थे. चीन भारत को लगभग 60 अरब डॉलर का निर्यात करता है.

भारत और चीन के बीच सैंकड़ों किलोमीटर लंबी सीमा पर विवाद है. लेकिन हाल के हफ्तों में तनाव बहुत बढ़ गया है. पर्यवेक्षक कहते हैं कि बीते 40 साल में पहली बार ऐसा हुआ है जब चीनी सीमा पर किसी कार्रवाई में भारतीय सैनिक मारे गए हैं. 

एके/आईबी (रॉयटर्स, एएफपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

 

ये भी पढ़िए: चीन में नहीं खुलती ये मशहूर वेबसाइटें

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन