भारत और बांग्लादेश के हैकरों में जंग | विज्ञान | DW | 16.02.2012
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

विज्ञान

भारत और बांग्लादेश के हैकरों में जंग

भारत और बांग्लादेश के बीच साइबर युद्ध छिड़ा है.बांग्लादेश के हैकर्स के एक ग्रुप ने दावा किया है कि उसने भारत की बीस हजार वेबसाइटों को हैक कर लिया है. इसमें बीएसएफ की वेबसाइट भी शामिल है.

'बांग्लादेश ब्लैक हैट हैकर्स' नाम के इस संगठन ने अपना फेसबुक पेज भी शुरू किया है. इस पेज पर वह बेहिचक लगातार बता रहे हैं कि उन्होंने कौन कौन सी वेबसाइट हैक कर ली है. इनमें कई नेताओं की वेबसाईट्स भी शामिल है. साथ ही बीएसएफ, बीएसएनएल और कई बॉलीवुड फिल्मों और गानों की साइटों के नाम भी यहां दिए गए हैं. मीडिया में इन हैकर्स के बारे में छप रही सभी रिपोर्टों पर भी इनकी नजर है. वे याहू, टाइम्स ऑफ इंडिया और अन्य वेबसाइटों पर छपी खबरों के लिंक यहां पोस्ट कर रहे हैं. एक रिपोर्ट के लिंक के साथ लिखा गया है, "हमारे प्रदर्शन के बारे में याहू न्यूज और चाइनीज शंघाई डेली में भी लिखा गया है. अब पूरी दुनिया समझ पा रही है कि किस तरह से भारत ने हमें सताया है."

वेबसाइट हैक करने वालों का कहना है कि बीएसएफ के जवानों ने सीमा पर कई बांग्लादेशी नागरिकों को मार गिराया और यह उनका इसके खिलाफ प्रदर्शन करने का तरीका है. उन्होंने यह भी दावा किया है कि बांग्लादेश की भी कई वेबसाइट्स हैक की जा चुकी हैं. फेसबुक पेज पर लिखा गया है, "भारत ने अब तक हमारी 400 साइटें हैक की हैं, जबकि हम इस जंग की शुरुआत से अब तक उनकी बीस हजार साइटें हैक कर चुके हैं." फेसबुक पर यह बात साफ साफ लिखी गई है कि उन्हें बीएसएफ की कार्रवाई के कारण नाराजगी है, "हमारी भारतीयों से कोई निजी दुश्मनी नहीं है. लेकिन बीएसएफ और भारत सरकार द्वारा दिखाई गई बर्बरता ने हमें यह कदम उठाने पर मजबूर कर दिया है."

बांग्लादेशी अखबारों में छपी खबरों के अनुसार पिछले हफ्ते भारतीय हैकरों द्वारा बांग्लादेश के पांच मंत्रियों की साइटें हैक की गई थीं. अखबार के अनुसार ''इंडियन साइबर आर्मी' नाम के संगठन ने इसकी जिम्मेदारी भी ली है. टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार पाकिस्तानी हैकर भी अब तक भारत की दो हजार साइटों को हैक कर चुके हैं. एक सोशल नेट्वर्किंग वेबसाईट के हवाले से टाइम्स ऑफ इंडिया ने लिखा है कि पाकिस्तानी हैकर "भारत की साइबर सीमा को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं और बांग्लादेश द्वारा छेड़े गए साइबर युद्ध में उनका साथ देना चाहते हैं."

इस बीच एक अन्य संगठन 'बांग्लादेश साइबर आर्मी' ने एक वीडियो जारी कर चेतावनी दी है कि भारतीय हैकर बांग्लादेशी वेबसाइटों को हैक करना और "मासूम बांग्लादेशियों की जान लेना बंद करें". वीडियो में मांग की गई है कि बीएसएफ के उन जवानों के खिलाफ कदम उठाए जाएं जिन्होंने बांग्लादेशी नागरिकों की जान ली और बांग्लादेश में भारतीय मीडिया पर रोक लगाई जाए.

रिपोर्ट: ईशा भाटिया

संपादन: महेश झा

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन