भारतीयों को 48 घंटे में फ्रांस का वीजा | दुनिया | DW | 28.07.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारतीयों को 48 घंटे में फ्रांस का वीजा

भारत और रूस समेत आठ देशों के नागरिकों को फ्रांस 48 घंटे के अंदर वीजा देगा. पर्यटन को बढ़ाने के लिए यह एलान खुद फ्रांस के प्रधानमंत्री ने किया.

पेरिस और नीस पर हुए आतंकवादी हमलों की मार फ्रांस के टूरिज्म पर भी पड़ी. 2016 में फ्रांस घूमने वाले विदेशी सैलानियों की संख्या में अच्छी खासी गिरावट आयी. बीते साल सिर्फ 8.9 करोड़ पर्यटक फ्रांस पहुंचे. अब देश फिर से सैलानियों को रिकॉर्ड संख्या में न्योता देना चाहता है. फ्रांस ने 2020 तक 10 करोड़ सैलानी बुलाने का लक्ष्य रखा है.

फ्रांस की नजर भारत और रूस के साथ साथ छह अन्य एशियाई देशों पर है. फ्रांस के प्रधानमंत्री ने एलान किया है कि एक नवंबर से भारत, रूस, थाइलैंड, फिलीपींस, कंबोडिया, लाओस, म्यांमार और इंडोनेशिया के नागरिकों को वह 48 घंटे के अंदर वीजा देगा. फिलहाल फ्रांस का टूरिस्ट वीजा लेने के लिए इन देशों के नागरिकों को 10 दिन इंतजार करना पड़ता है.

प्रधानमंत्री इदुआ फिलिप ने यह भी कहा कि फ्रांस के एयरपोर्टों पर ज्यादा कर्मचारियों की नियुक्ति होगी. पासपोर्ट चेकिंग में लगने वाले समय को भी घटाया जाएगा. यूरोपीय संघ के नागरिकों को पासपोर्ट चेक के लिए 30 मिनट से ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा. संघ से बाहर के देशों के नागरिकों के लिए यह वेटिंग लिमिट 45 मिनट होगी.

फ्रांस की जीडीपी में टूरिज्म का हिस्सा 7 फीसदी से ज्यादा है. 6.6 करोड़ की आबादी वाले देश में पर्यटन उद्योग 20 लाख लोगों को रोजगार देता है.

(इन देशों में आराम से जा सकते हैं भारतीय नागरिक)

ओएसजे/एके (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री