बस हाइजैक कांड का दुखद अंत | जर्मन चुनाव 2017 | DW | 23.08.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

जर्मन चुनाव

बस हाइजैक कांड का दुखद अंत

फिलीपीन में सैलानियों को ले जा रही बस को बंधक बनाने वाले पूर्व पुलिसकर्मी को मार गिराने के साथ इस कांड का अंत हो गया. हालांकि पुलिस कार्रवाई में सिर्फ सात बंधक बचाए जा सके. छह बंधकों की मौत.

default

नौकरी से निकाले जाने से नाराज पूर्व पुलिसकर्मी ने अपनी बहाली की मांग करते हुए पिछले 10 घंटों से बस को बंधक बना रखा था. उसकी पहचान रोनाल्डो मेन्डोजा के तौर पर की गई है. बस में हांग कांग के 20 सैलानी और चालक सिहत पांच स्थानीय टूरिस्ट गाइड सवार थे.

Philippinen Ex-Polizist kapert Bus mit Touristen

पुलिस उसके भाई की मदद से लगातार सुलह की कोशिश कर रही थी. इस बीच उसने छह सैलानियों को रिहा भी कर दिया लेकिन बाद में बातचीत के बीच ही उसने चारों ओर से बस को घेरे खडी़ पुलिस पर गोली चलाना शुरू कर दिया. पुलिस की जवाबी गोलीबारी में मेन्डोजा की मौत हो गई. लेकिन तब तक बस में सवार छह सैलानी मारे गए.

मेन्डोजा को पिछले साल वसूली और उत्पीड़न के आरोप में नौकरी से निकाल दिया गया था. जबकि उसका कहना था कि उसे झूठे आरोप में फंसाया गया है. बस हाइजैक करने के कुछ समय बाद ही उसने सात बंधकों को छोड़ दिया. इसी बीच बस चालक भी निकल भागने में कामयाब रहा. पुलिस के मुताबिक शुरू में छोड़े गए लोगों में एक पुरुष, तीन महिलाएं और तीन बच्चे हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः ए जमाल

DW.COM

विज्ञापन