बच्चों को सफाई सिखाएंगे मोदी | दुनिया | DW | 27.10.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बच्चों को सफाई सिखाएंगे मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिक्षक दिवस पर स्कूली बच्चों के साथ रूबरू हो चुके हैं. अब बाल दिवस के अवसर पर वे अपने मंत्रियों और सांसदों की मदद से बच्चों को स्वच्छता के लिए जागरूक करवाने की उम्मीद कर रहे हैं.

झाड़ू भले ही बीजेपी की विपक्षी पार्टी का निशान हो, लेकिन इन दिनों वह मोदी की ताकत बना हुआ है. अपने स्वच्छ भारत अभियान के बारे में बात करने का कोई भी मौका प्रधानमंत्री नहीं गंवाते और अब वे इस अभियान को घर घर और बच्चे बच्चे तक पहुंचाना चाहते हैं. इसलिए उन्होंने अपने मंत्रियों से कहा है कि बाल दिवस के अवसर पर वे स्कूलों में जा कर बच्चों को स्वछता का पाठ पढ़ाएं.

रविवार को प्रधानमंत्री ने "दिवाली मिलन" का आयोजन किया. मोदी की इस चाय पार्टी में एनडीए के करीब 400 सांसदों को भी बुलाया गया था. पीएमओ द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, "मोदी ने सांसदों से आग्रह किया है कि भारत के प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन की 125वीं सालगिरह पर 14 नवंबर से पांच दिन तक स्कूलों में जा कर बच्चों से मिलें, स्वछता की अहमियत समझाएं, इससे एक सकारात्मक संदेश जाएगा."

मोदी ने सांसदों से देश की तरक्की के लिए एक नया रास्ता खोजने को कहा. उन्होंने कहा कि सांसद बड़ा सोचें, दूर का सोचें और राजनीति से ऊपर उठ कर सोचें. साथ ही उन्होंने कहा कि एक "सकारात्मक ऊर्जा वाली पार्टी" होने के नाते उन्हें अनुकूल योजनाओं के बारे सोचना चाहिए. प्रधानमंत्री ने यह सुझाव भी दिया कि सांसद जब स्कूलों में जाएं, तो बच्चों को सरकार की उपलब्धियों और "गरीबों के उत्थान के लिए किए गए सरकार के काम" के बारे में जरूर बताएं.

स्वच्छ भारत अभियान की पोलियो अभियान से तुलना करते हुए मोदी ने कहा कि अगर लोग चाहें, तो देश से गंदगी को वैसे ही हटाया जा सकता है, जैसे कि पोलियो को. इस बीच ट्विटर पर भी मोदी अभियान की लगातार चर्चा कर रहे हैं और इस से जुड़ी फिल्मी हस्तियों का शुक्रिया अदा करना भी नहीं भूल रहे हैं. ऋतिक रोशन की मिसाल देते हुए उन्होंने ट्विटर पर लिखा, "मुझे यकीन है कि आप लोग ऋतिक से प्रोत्साहित होंगे. स्वच्छ भारत के लिए उन्होंने बड़ा योगदान दिया है."

हाल ही में मोदी प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद पहली बार मीडिया से रूबरू हुए थे. अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने स्वच्छ भारत अभियान को लोगों तक पहुंचाने के लिए मीडिया का भी शुक्रिया अदा किया. उन्होंने यहां तक कहा कि "आप लोगों ने कलम को ही झाड़ू बना दिया." मोदी की इस टिपण्णी पर कुछ पत्रकारों ने नाराजगी जताई है.

DW.COM

संबंधित सामग्री