फिक्सिंग कांड की सुनवाई 30-31 को | खेल | DW | 06.10.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फिक्सिंग कांड की सुनवाई 30-31 को

मैच फिक्सिंग कांड में फंसे पाकिस्तान के तीन क्रिकेट खिलाड़ियों की सुनवाई इस महीने के आखिर में होगी. आईसीसी की कमेटी इन तीनों आरोपी खिलाड़ियों की अपील सुनेगी.

default

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट संघ यानी आईसीसी ने एक बयान जारी कर कहा कि पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान सलमान बट, तेज गेंदबाज मोहम्मद आमेर और मोहम्मद आसिफ की अपीलों पर 30 और 31 अक्तूबर को सुनवाई की जाएगी. आईसीसी के कोड ऑफ कमीशन प्रमुख माइकल बेलॉफ उनकी अपील सुनेंगे.

आईसीसी ने इस बात की पुष्टि की है कि बट, आसिफ और आमेर ने अलग अलग याचिकाएं देकर अपने निलंबन के खिलाफ अपील की है.

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी हारून लोर्गाट ने साफ किया कि यह सुनवाई सिर्फ अस्थायी निलंबन को लेकर है और खिलाड़ियों के खिलाफ लगाए गए आरोपों से जुड़े नहीं हैं.

Cricket Pakistan Salman Butt

बताया जा रहा है कि सुनवाई पाकिस्तान या इंग्लैंड में नहीं, बल्कि कतर में होगी. हालांकि इन तीनों खिलाड़ियों के वकील चाहते थे कि इनकी सुनवाई जल्दी हो जाए ताकि उनके खेलने का रास्ता साफ हो सके.

इंग्लैंड दौरे में ब्रिटेन के एक अखबार ने स्टिंग ऑपरेशन किया, जिसमें एक सट्टेबाज ने पैसे लेकर दावा किया कि वह जब चाहे इन खिलाड़ियों से नो बॉल फिंकवा सकता है. लॉर्ड्स में खेले गए इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच चौथे टेस्ट में ठीक वैसा ही हुआ. जिन गेंदों का सौदा किया गया, वह गेंदे नो बॉल फेंकी गईं.

इस स्टिंग ऑपरेशन के बाद हड़कंप मच गया और आईसीसी ने तीनों खिलाड़ियों को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया. हालांकि इन तीनों का कहना है कि वे निर्दोष हैं उन्हें फंसाया जा रहा है. पाकिस्तान की टीम हाल के इंग्लैंड दौरे में अपने सारे टेस्ट मैच हार गई.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः आभा एम

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन