फटाफट: एक नजर दुनिया पर | दुनिया | DW | 20.07.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फटाफट: एक नजर दुनिया पर

क्या रहीं आज की खास खबरें. एक नजर दुनिया भर की सारी बड़ी खबरों पर.

ब्रिटेन का ब्रेक्जिट की ओर पहला कदम

ब्रिटेन ने ब्रेक्जिट की ओर पहला कदम उठा लिया है. प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने यूरोपीय संघ के अध्यक्ष डोनाल्ड टुस्क को टेलिफोन कर कहा है कि ब्रिटेन 2017 की दूसरी छमाही में यूरोपीय संघ की अध्यक्षता नहीं करेगा. अब सूची के दूसरे देश छह महीना ऊपर खिसक जाएंगे. ब्रिटेन की जगह अब एस्टोनिया ईयू का अध्यक्षता संभालेगा. इस बीच प्रधानमंत्री टेरीजा मे बर्लिन और पेरिस के दौरे पर हैं.

फोक्सवैगन के खिलाफ नए आरोप

अमेरिका में जर्मन ऑटोमोबिल कंपनी फोक्सवागन के खिलाफ नए आरोप लगे हैं. अमेरिकी अधिकारियों के साथ अरबों डॉलर के समझौते के बावजूद कई प्रांतीय सरकारें नए मुकदमे कर रही हैं. आरोप है कि कई मैनेजरों को जालसाजी के बारे में पता था और उन्होंने अधिकारियों को अंधेरे में रखा. कंपनी के पूर्व प्रमुख मार्टिन विंटरकॉर्न और उनके उत्तराधिकारी मथियास मुलर के खिलाफ भी सरकारी वकील जांच शुरू कर रहे हैं.

चीन नहीं बाजार अर्थव्यवस्था

यूरोपीय संघ अगले फैसले तक चीन को बाजार अर्थव्यवस्था नहीं मानेगा. ब्रसेल्स में यूरोपीय आयोग ने घोषणा की है कि वह उन देशों की सूची समाप्त करना चाहता है जो बाजार अर्थव्यवस्था के तहत काम नहीं करते हैं. लेकिन इसका असर वह नहीं होगा जो चीन चाहता है.

मलेशिया की संपत्ति जब्त

मलेशिया में कुछ महीनों से हंगामा मचाने वाले प्रधानमंत्री नजीब रजाक से संबंधित भ्रष्टाचार कांड की लौ अब अमेरिका तक पहुंच गई है. अमेरिकी कानून मंत्रालय ने एक अरब डॉलर से ज्यादा की रकम वाली संपत्ति को जब्त करने की घोषणा की है जिसे संभवतः मलेशिया के सरकारी फंड 1एमडीबी की मदद से खरीदा गया था.

बीजेपी की मुश्किलें

बीजेपी सांसद दयाशंकर सिंह के बीएसपी प्रमुख मायावती के लिए कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी करने को लेकर राज्य सभा में हंगामा मचा. सदन में बीजेपी के संसदीय दल के नेता अरुण जेटली ने भी इसकी कड़ी निंदा की. विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने अभद्र टिप्पणी पर रोष जताया. इस विवाद से परेशान बीजेपी ने उत्तर प्रदेश राज्य में उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह को सभी पार्टी पदों से हटा दिया. और साफ किया कि "ऐसी भाषा की उनकी पार्टी में कोई जगह नहीं है."

संबंधित सामग्री

विज्ञापन