प्रिंस पर टिकी विवेक की उम्मीदें | लाइफस्टाइल | DW | 09.04.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

लाइफस्टाइल

प्रिंस पर टिकी विवेक की उम्मीदें

कारोबार के लिहाज से देखा जाए तो विवेक ओबेरॉय को लेकर ‍’प्रिंस’ जैसी महंगी फिल्म बनाना बेहद जोखिम भरा काम है. लेकिन ‘प्रिंस’ के निर्माता तौरानी को अपनी फिल्म और विवेक पर पूरा विश्वास है.

आजकल गर्दिश में है विवेक के सितारे

आजकल गर्दिश में है विवेक के सितारे

पिछले कुछ वर्षों से विवेक रेस में बहुत पिछड़ गए हैं और सोलो हीरो के रूप में उनकी मार्केट वैल्यू ज्यादा नहीं है. लेकिन बताया जाता है कि ‘प्रिंस' के प्रोमो को बहुत अच्छा रिस्पांस मिला है और इस बात ने विवेक को उत्साह से भर दिया है. लंबे समय बाद विवेक आश्वस्त दिख रहे हैं कि जिस सफलता को अरसे से वे तलाश रहे हैं वह ‘प्रिंस' के जरिए उन्हें मिल जाएगी. उनका कहना है कि फिल्म बहुत अच्छी बनी है और सफलता जरूर हासिल करेगी.

निर्देशक कुकी गुलाटी के साथ विवेक कुछ म्यूजिक वीडियो कर चुके हैं इसलिए उनकी जान पहचान पुरानी है. जब कुकी ‘प्रिंस' का ऑफर लेकर विवेक पास आए और कहानी सुनाई तो वे फौरन तैयार हो गए.

फिल्म का एक्शन इस समय चर्चा में है और विवेक ने इसके लिए काफी मेहनत की. थाइलैण्ड के ट्रेनर से मार्शल आर्ट सीखा. स्केटिंग सीखी. कई खतरनाक स्टंट उन्होंने खुद किए.

इस बात की विवेक को पूरी उम्मीद है कि उनका करियर फिर से पटरी पर लौट आएगा. प्रिंस के बाद उनकी ‘रक्त चरित्र' प्रदर्शित होगी और विवेक का कहना है कि रामगोपाल वर्मा बहुत शानदार फिल्म बना रहे हैं.

बड़े-बड़े दावे करना, अपनी फिल्म को खास बताना बॉलीवुड का हर हीरो करता है. विवेक भी कर रहे हैं. ‘प्रिंस' वाकई में प्रिंस है या नहीं, आने वाले दिनों में साफ हो जाएगा.

सौजन्यः वेबदुनिया

संपादनः ए कुमार

संबंधित सामग्री

विज्ञापन