प्रिंसिपल उठाएंगे बिस्तर से | लाइफस्टाइल | DW | 10.03.2011
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

लाइफस्टाइल

प्रिंसिपल उठाएंगे बिस्तर से

अमेरिकी राज्य मैसेचूसेट्स के एक स्कूल ने आलसी छात्रों को जगाने की खास तरकीब निकाली है. अब स्कूल के लिए जगाने प्रिंसिपल साहब खुद घर फोन करेंगे.

default

जब स्कूल में थे तो प्रिंसिपल सर के डर से भूख, प्यास, आराम, चैन और खुशी जैसे खयाल एक झटके में दिमाग से साफ हो जाते. बस अपने आप को प्रिंसिपल की निगाहों से बचते बचाते किसी तरह क्लास में घुस जाया करते. शायद इसी मानसिकता का फायदा उठा कर अमेरिका के स्कूल प्रिंसिपल की आवाज से बच्चों को सुबह जगाने की कोशिश में हैं.

इस तरह के अलार्म को रोबो कॉल्स का नाम दिया गया है. हर सूबह मैसेचूसेट्स के छात्रों के घरों में 6 बजकर 15 मिनट पर स्कूल के प्रिंसिपल की आवाज गूंजती है, "6 बजकर 15 मिनट हो गए हैं और डर्फी हाई स्कूल तुम्हें बुला रहा है." फॉल रिवर इलाके में स्कूल के उप प्रधानाचार्य रोस थिबो का कहना है कि छात्रों को सुबह सुबह बिस्तर से निकालने के लिए यह तरीका आजकल अपनाया जा रहा है. रोबो कॉल्स ज्यादातर बच्चों के माता पिताओं को खास जानकारी देने लिए इस्तेमाल किए जाते हैं, मिसाल के तौर पर जब मौसम खराब हो और स्कूल में बच्चों को रोका गया हो.

बॉस्टन शहर के पास फॉल रिवर में 20 प्रतिशत बच्चों के घर पर सुबह सुबह फोन किया जाता है और उन्हें जगाने के लिए प्रिंसिपल की आवाज सुनाई जाती है. प्रशासकों का मानना है कि इससे कक्षाओं में छात्रों की उपस्थिति पर भी असर पड़ेगा. इस वक्त केवल 88 प्रतिशत छात्र कक्षाओं में आते हैं. रोबो कॉल्स के बाद इस आंकड़े को 95 प्रतिशत तक लाने की कोशिश की जा रही है.

Flash-Galerie Schlafende Frau mit Mobiltelefon

फोन करेंगे प्रिंसिपल

मैसेचूसेट्स के और स्कूल भी इस तरह की तरकीबों को अपना रहे हैं. न्यू यॉर्क भी पीछे नहीं है. वहां छात्रों को प्रिंसिपल की आवाज से छुटकारा दे कर मशहूर बास्केटबॉल खिलाड़ी मैजिक जॉनसन की आवाज का इस्तेमाल किया गया है.

रिपोर्टःरॉयटर्स/एमजी

संपादनः ईशा भाटिया

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन