प्रधानमंत्री पोछा मारें तो भी कुछ नहीं होगा: मोदी | दुनिया | DW | 01.09.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

प्रधानमंत्री पोछा मारें तो भी कुछ नहीं होगा: मोदी

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, अब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह खुद भी पोछा मार लें तब भी कॉमनवेल्थ खेलों की तैयारियां समय पर पूरी नहीं होंगी. मोदी ने अहमदाबाद नगर निगम को कॉमनवेल्थ के आयोजकों से बेहतर बताया.

default

कॉमनवेल्थ खेलों को लेकर आए दिन आलोचनाओं का सामना कर रही केंद्र सरकार पर निशाना साधने का मौका मोदी भी नहीं चूके. अपने बयानों से विरोधियों को तिलमिला देने वाले मोदी ने सीधे प्रधानमंत्री पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ''मुझे नहीं पता कि कॉमनवेल्थ खेलों में क्या हो रहा है. अब अगर प्रधानमंत्री फर्श पर पोछा लगाना भी शुरू कर दें, तब भी खेलों के आयोजन स्थल समय पर तैयार नहीं होंगे.''

Baustelle in Indien

अपने राज्य के विकास का दावा ठोंकते हुए मोदी ने यह भी कहा कि अगर जिम्मेदारियां अहमदाबाद के अधिकारियों को दी जातीं तो हालात बिल्कुल अलग होते. उन्होंने कहा, ''सीडब्ल्यूजी के लोगों के पास तैयारियों के लिए चार साल थे लेकिन वह अब भी संघर्ष कर रहे हैं. उन्हें तैयारियों को अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन के हवाले कर देना चाहिए था. जो सभी स्टेडियमों को समय पर तैयार कर देता.''

कॉमनवेल्थ खेलों की शुरुआत तीन अक्तूबर से होनी है लेकिन खेलों के आयोजन से जुड़ी ज्यादातर निर्माण योजनाएं वक्त से काफी पीछे चल रही है. कई स्टेडियम पूरी तरह तैयार नहीं हुए है. फ्लाईओवर और मेट्रो रेल प्रोजेक्टस भी लेट लतीफी में चल रहे हैं. इन कमियों ने खुद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को गहरी चिंता में डाल दिया है.

उपर से नेता और नामी गिरामी हस्तियां खेलों के आयोजन को भ्रष्टाचार का जरिए और पैसों की बर्बादी करार दे रही हैं.

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: महेश झा

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन