पॉप स्टार ने एड्स फैलाने का अपराध माना | जर्मन चुनाव 2017 | DW | 16.08.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

जर्मन चुनाव

पॉप स्टार ने एड्स फैलाने का अपराध माना

एड्स की बीमारी छुपाकर पुरुषों से असुरक्षित शारीरिक संबंध बनाने वाली जर्मनी की पॉप स्टार खिलाफ मुकदमा शुरू. नो एंजेल्स बैंड की स्टार नादिया बेनाइसा की वजह से एक व्यक्ति को एड्स हुआ. पॉप स्टार ने अपराध कबूल किया.

कबूला अपराध

कबूला अपराध

अपने पहले गाने से शोहरत और बुलंदियों की ऊंचाइयां छूने वाली नादिया बेनाइसा अब कानून के कटघरे में हैं. सोमवार को अदालत में उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया. पॉप स्टार नादिया को एड्स की बीमारी है. उन्हें इस बात का पता भी है लेकिन इसके बावजूद उन्होंने चार पुरुषों के साथ असुरक्षित शारीरिक संबंध बनाए. पुरुषों को यह नहीं बताया कि उन्हें एड्स है.

नादिया को इस पूरे मामले पर अफसोस तो है लेकिन साथ ही जिस तरह से पूरा मामला उजागर हुआ, उस पर मलाल भी है. वह कहती हैं, "मेरी मर्जी से मेरे बारे में ये बातें सामने नहीं आई हैं. मैं नहीं चाहती थी कि सब मामला सार्वजनिक हो."

मामला तब सामने आया जब एक व्यक्ति को एड्स हो गया. मेडिकल जांच में पता चला कि नादिया के साथ संबंध बनाने वाला यह व्यक्ति एचआईवी से संक्रमित हो चुका है. इसके बाद अप्रैल 2009 में नादिया को गिरफ्तार किया गया. उन्हें 10 दिन पुलिस हिरासत में बिताने पड़े. सरकारी वकील गेअर नोएबर ने कहा, "हमने इसलिए उन्हें जेल में डाला कि कहीं किसी और की जिंदगी खतरे में न पड़ जाए. हमारा मानना है कि जिस भी व्यक्ति के साथ उन्होंने संबंध बनाए, उसे खुल आम इस बारे में बताया जाना चाहिए था." अब नादिया के खिलाफ खतरनाक शारीरिक हानि पहुंचाने के मुकदमे चल रहे हैं.

Die Girlgruppe No Angels

नो एंजेल्स बैंड की गायिकाएं

आरोप पत्र के मुताबिक नादिया ने सन 2000 से 2004 के बीच में ये अपराध किए. यह सिलसिला तब शुरू हुआ जब वह सिर्फ 17 साल की थीं. फिलहाल 11 साल की एक बच्ची की मां नादिया का बैंड नो एंजेल्स जर्मनी का सबसे कामयाब गर्ल्स बैंड रहा है. उन्हें जर्मनी की स्पाइस गर्ल्स भी कहा जाता था. 2000 से उनके पांच अलबम निकले हैं और कई अवॉर्ड्स भी उन्होंने अपने नाम किए लेकिन अब न तो अब नादिया पॉप स्टार हैं, न शोहरत उनका पीछा करती है. अब वह अकेली एक मां हैं और एक आरोपी भी.

बीते साल नवंबर में उन्होंने सार्वजनिक एलान किया था कि वह एचआईवी पॉजिटिव हैं. हालांकि उनमें अभी तक एड्स के बड़े लक्षण नहीं देखे गए हैं. दरअसल एचआईवी पॉजिटिव संक्रमण के साथ एड्स की बीमारी शुरू हो जाती है. धीरे धीरे यह शरीर के रोगों से लड़ने की क्षमता को खत्म कर देती है. ऐसे में अगर मरीज को बड़ी बीमारी हो जाए, तो शरीर रोग से लड़ नहीं पाता है.

आरोप लगाने वाले कहते हैं कि नादिया एलान करने के बजाय सावधानी बरत सकती थीं, साथी पुरुषों को एचआईवी की जानकारी दे सकती थीं, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. उन्होंने दूसरे की जान की जरा भी परवाह नहीं की. नादिया अब कठघरे में हैं. वे घातक बीमारी से पीड़ित हैं, सामने छह महीने से 10 साल तक की सजा है और पीछे एक बेटी है.

अदालत में पेशी के दौरान अपनी शुरुआती जिंदगी के बारे में बताते हुए नादिया ने कहा कि 14 साल की उम्र में वह गलत संगत में पड़ गईं. उन्होंने नशीले पदार्थ लेने शुरू कर दिए और 16 साल की उम्र में वह गर्भवती हो गईं. जब वह गर्भपात कराने गईं तो पता कि वह एचआईवी पॉजिटिव हैं.

17 साल की उम्र में उनका करियर शुरू हुआ, तब से लगातार अटकलें लगाई जाती रहीं कि वह एचआईवी पॉजिटिव है. वह मानती हैं कि एक पॉप स्टार होने के नाते उन्हें अपनी जिम्मेदारी निभानी थी, लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाईं. नादिया ने माना कि अपनी बीमारी के प्रति उनका रवैया गलत था, लेकिन जो कुछ भी हुआ वह भी उनकी छोटी सी जान के साथ ज्यादती रही.

रिपोर्ट: डीपीए/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन