पेरिस में ठहरें, किराया जो मर्जी दें | मनोरंजन | DW | 22.07.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

पेरिस में ठहरें, किराया जो मर्जी दें

फ्रांस की राजधानी पेरिस को दुनिया के सबसे महंगे होटलों के लिए जाना जाता है. लेकिन अब यहां के कुछ होटलों ने किराया तय करना ही छोड़ दिया है. ग्राहकों से कहा है कि जितना मर्जी उतना किराया देकर जाएं.

पेरिस के पांच होटलों ने यह तरीका अपनाया है और कहा है कि अगर यह कामयाब रहा, तो इसकी मीयाद बढ़ा दी जाएगी. ये 3 और 4 सितारा होटल मुख्य शहर में मौजूद हैं. इनके मालिकों को भरोसा है कि उनकी इस नायाब स्कीम का ग्राहक मजाक नहीं उड़ाएंगे और उन्हें इसका नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा.

आम तौर पर सैलानियों को पेरिस के होटल के किराए से शिकायत रहती है. फ्रांस में दुनिया के सबसे ज्यादा सैलानी जाते हैं. कम किराए वाली स्कीम को सिर्फ इस वेबसाइट पर बुक किया जा सकता है. टूअर दोवैरने होटल के प्रमुख आल्ड्रिक दुवाल कहते हैं, "यह एक अच्छा तरीका है, ग्राहकों के लिए भरोसा कायम करने का तरीका."

इसके तहत ग्राहक होटल की सर्विस और कमरे की क्वालिटी को ध्यान में रख कर अपना किराया खुद तय करेंगे और जो मर्जी होगी, उतना पैसा देंगे. शहर के पूर्वी हिस्से में ग्रां होटल फ्रांसेज चलाने वाले सी जयाद सी होकनिन को पूरी उम्मीद है कि ग्राहक वाजिब किराया देंगे.

फिलहाल होटलों ने सिर्फ दो या तीन कमरे इस स्कीम के लिए रखे हैं. यह 10 अगस्त तक प्रभावी है. यानि अगर पेरिस जाने का इरादा करना है, तो वक्त बहुत कम है.

एजेए/आईबी (एएफपी)

DW.COM