पूर्व प्रधानमंत्री का बेटा अगवा | दुनिया | DW | 09.05.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पूर्व प्रधानमंत्री का बेटा अगवा

पाकिस्तान में पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी के बेटे का अपहरण हुआ. मुल्तान में चुनाव प्रचार के दौरान हथियारबंद अपहर्ताओं ने अली हैदर गिलानी के अंगरक्षक और सचिव को गोली मारी और अफरा तफरी के बीच हैदर को अगवा कर ले गए.

मुल्तान शहर के बाहरी इलाके में हुई वारदात की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी खुर्रम शकूर ने कहा, "लोग मोटरसाइकिल पर आए. उनके पास कार भी थी. उन्होंने फायरिंग की और यूसुफ रजा गिलानी के बेटे अली हैदर को काली होंडा कार में अगवा कर लिया." फायरिंग में हैदर के सचिव की मौत हो गई. अंगरक्षक घायल है.

पूर्व प्रधानमंत्री का बेटा पाकिस्तान के पंजाब में चुनाव प्रचार कर रहा था. मुल्तान को यूसुफ रजा गिलानी का गढ़ कहा जाता है. पाकिस्तानी न्यूज चैनलों के मुताबिक फायरिंग में पांच अन्य लोग घायल हुए है. फिलहाल किसी संगठन ने हमले और अपहरण की जिम्मेदारी नहीं ली है.

न्यूज चैनलों की फुटेज में वारदात के बाद पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के रोते हुए कार्यकर्ता दिख रहे हैं. एक चश्मदीद ने जियो न्यूज चैनल को बताया कि हमलावर एक कार से आए. अली हैदर गिलानी के समर्थकों के पास पहुंचते ही उन्होंने ताबड़तोड़ फायरिंग की. चश्मदीद के मुताबिक हमलावर अली हैदर को गाड़ी में ठूंसता हुआ दिखाई पड़ा. हमलावरों ने घटनास्थल से भागते समय भी चलती कार से फायरिंग की.

प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन तहरीक ए तालिबान पहले ही पाकिस्तान में धर्मनिरपेक्ष पार्टियों को निशाना बनाने की धमकी दे चुका है. कुछ इलाकों में पीपीपी और आवामी नेशनल पार्टी के कार्यकर्ताओं पर धमकी की घबराहट देखी भी जा रही है. लेकिन पंजाब में तहरीक ए तालिबान का प्रभाव कम है.

पाकिस्तान के इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी लोकतांत्रिक सरकार ने अपना कार्यकाल पूरा किया है. बेनजीर भुट्टो की हत्या के बाद सत्ता में आई पीपीपी ने अपनी गठबंधन पार्टियों के साथ पांच साल सरकार चलाई. अब नई संसद चुनने के लिए 11 मई को मतदान होना है. लेकिन चुनाव की तारीख के एलान के बाद से ही देश में हिंसा बढ़ी है. अप्रैल मध्य से अब तक 110 लोग मारे जा चुके हैं.

ओएसजे/एएम (एपी, पीटीआई)

विज्ञापन