पुर्तगाली मंत्री का भाषण पढ़ गए कृष्णा | जर्मन चुनाव 2017 | DW | 12.02.2011

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

जर्मन चुनाव

पुर्तगाली मंत्री का भाषण पढ़ गए कृष्णा

भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में जलालत का सामना करना पड़ा. कृष्णा पुर्तगाल के मंत्री का भाषण पढ़ गए. बाद में उन्हें भारतीय अधिकारी ने इशारा किया और किसी तरह बात संभली.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बहस के दौरान कृष्णा उठे और बोलने लगे. तीन मिनट तक वह लगातार पुर्तगाल के विदेश मंत्री लुईस एमांडो का भाषण पढ़ते रहे. उन्होंने कहा, ''यहां पुर्तगाली बोलने वाले दो देश पुर्तगाल और ब्राजील एक साथ मौजूद हैं. मुझे इस बात पर बेहद संतोष हैं और इसे प्रकट करने का मौका दिया जाए.''

यह पक्तियां पढ़ने के बाद भी भारतीय विदेश मंत्री को अपनी चूक का एहसास नहीं हुआ. वह लगातार आगे का भाषण पढ़ते रहे. तभी संयुक्त राष्ट्र में भारतीय दूत हरप्रीत सिंह पुरी ने उन्हें संभाला और बताया कि वह गलत भाषण पढ़ रहे हैं. पुरी ने कृष्णा से कहा, ''आप दोबारा अपनी बात कह सकते हैं.''

Münchner Sicherheitskonferenz

माना जा रहा है कि पुर्तगाली मंत्री के भाषण में ऐसी कई सामान्य बातें लिखी थीं जिनकी वजह से कृ़ष्णा को अपनी भूल का एहसास नहीं हो सका. इतना ही नहीं पुर्तगाली मंत्री उनसे पहले भाषण दे चुके थे, फिर भी कृष्णा गड़बड़ा गए.

एसएम कृष्णा दो दिन के दौरे पर न्यूयॉर्क गए हैं. उनका मकसद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की बात को सबके सामने रखना है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एन रंजन