पाकिस्तान में कोरोना के खिलाफ चीनी टीके के ट्रायल | दुनिया | DW | 22.09.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

पाकिस्तान में कोरोना के खिलाफ चीनी टीके के ट्रायल

पाकिस्तान ने कोरोना वायरस के खिलाफ चीन में तैयार टीके के ट्रायल का तीसरा चरण शुरू किया है. पाकिस्तान में दस हजार लोग इस टीके के ट्रायल में हिस्सा लेंगे.

दुनिया भर में फैली कोरोना महामारी को काबू करने के लिए टीके का बेसब्री से इंतजार हो रहा है. दुनिया की कई दवा कंपनियां जी-जान से टीका तैयार करने में जुटी हैं. चीन की कंपनी कैनसिनो बायोलॉजिक्स भी इनमें शामिल है. उसने जो टीका तैयार किया है, उसके ट्रायल का तीसरा चरण शुरू हो गया है. इस ट्रायल में सात देशों में 40 हजार लोग हिस्सा लेंगे. इनमें दस हजार लोग पाकिस्तान से होंगे. 

कैनसीनो कंपनी के बनाए टीके को एडी5-एनसीओवी नाम दिया गया है. इसके तीसरे चरण का ट्रायल शुरू करने की अनुमति पाकिस्तान सरकार ने अगस्त महीने में ही दे दी थी. अब पाकिस्तान के योजना मंत्री असद उमर ने मंगलवार को ट्रायल शुरू होने की घोषण की. पाकिस्तान में कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए देश की सेना ने जो मुहिम छेड़ रखी है, उसकी निगरानी और प्रबंधन का काम उमर ही देख रहे हैं. उन्होंने ट्वीट कर बताया कि तीसरे चरण के ट्रायल के शुरुआती नतीजे चार से छह महीने में आने की उम्मीद है.

इस्लामाबाद के जिस अस्पताल में यह ट्रायल शुरू हुआ है, वहां के डॉक्टरों को उम्मीद है कि हर दिन 20 से 25 लोग ट्रायल के लिए आएंगे. आने वाले दिनों में उनकी योजना इसे दूसरे शहरों के अस्पतालों में ले जाने की भी है. ट्रायल का नेतृत्व करने वाले हसन अब्बस जहीर ने बताया, "हमारी टीम पहुंच गई है और उन्होंने हमें बताया कि बहुत सारे लोग ट्रायल में हिस्सा लेने के लिए आगे आए हैं, और यह बहुत ही उत्साहजनक बात है."

वीडियो देखें 03:20

वैक्सीन बनाने में कितना वक्त लगता है?

जिन अन्य देशों में चीनी टीके का ट्रायल हो रहा है उनमें अर्जेंटीना, चिली, चीन और रूस शामिल हैं. पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान का कहना है कि टीके के पहले और दूसरे चरण के ट्रायल मई और जून में हुए थे और उनके नतीजे उत्साहजनक हैं.

पाकिस्तान में जून के महीने में कोरोना के सबसे ज्यादा केस सामने आए जब एक दिन में नए मामलों का आंकड़ा छह हजार तक पहुंच गया था. लेकिन तब से नए मामलों में बहुत गिरावट आई है. मंगलवार को सिर्फ 582 नए मामले सामने आए. इस तरह पाकिस्तान में अब कोरोना के मामले 306,886 हो गए हैं जबकि इससे मरने वालों का आंकड़ा 6,424 है.

22 करोड़ की आबादी वाले पाकिस्तान में हर दिन 20 हजार से 36 हजार तक टेस्ट हो रहे हैं. कोरोना वायरस को नियंत्रित करने की पाकिस्तान की कोशिशों को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी सराहा है. हालांकि विश्लेषकों का कहना है कि यह पता लगाया जाना अभी बाकी है कि संक्रमण के मामलों में तेज गिरावट का असल कारण क्या है, क्योंकि पाकिस्तान जैसे देश में लोग एहतियात बरतने पर बहुत ध्यान नहीं देते हैं.

पाकिस्तान में इस महीने से धीरे धीरे स्कूलों को खोला जा रहा है. बहुत से व्यापारिक प्रतिष्ठान पहले ही खोले जा चुके हैं, लेकिन सिनेमा, थिएटर और स्वीमिंग पूल अभी बंद हैं.

एके/आरपी (रॉयटर्स, डीपीए)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

ये भी पढ़िए: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली कोरोना आंकड़े!

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन