पाकिस्तानी एयरफोर्स के बेस पर हमला | दुनिया | DW | 18.09.2015
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तानी एयरफोर्स के बेस पर हमला

पेशावर में पाकिस्तान एयरफोर्स के बेस पर हुए आतंकवादी हमले में 33 लोगों की मौत हो गई. हाल के समय में पाकिस्तानी सेना के खिलाफ यह तालिबान का सबसे बड़ा हमला है.

पाकिस्तानी सेना के मेजर जनरल आसिम बाजवा के मुताबिक जवाबी कार्रवाई में 13 आतंकवादी मारे गए हैं. सेना के मुताबिक आतंकवादी शुक्रवार सुबह पेशावर की इकबाल रोड पर बने एयरफोर्स कैंप में घुसे. दो गुटों में बंटे आतंकवादियों ने सेना की वर्दी पहनी थी. दोनो गुट अलग अलग जगहों से कैंप में दाखिल हुए.

कैंप के अंदर एक मस्जिद है, जिसमें शुक्रवार को लोग नमाज के लिए जुटे थे. तभी हमला हुआ. 16 नमाजी मौके पर ही मारे गए. सेना के प्रवक्ता के मुताबिक आतंकवादियों ने आत्मघाती जैकेट पहनी थी. वे एके-47 और ग्रैनेड मोर्टार से लैस थे. जबावी कार्रवाई में पाकिस्तानी एयरफोर्स के एक कैप्टन की भी मौत हुई है.

तहरीक ए तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली है. बीते साल दिसंबर में पेशावर के आर्मी स्कूल में हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तानी सेना अफगान सीमा से सटे इलाकों में तालिबान पर लगातार हवाई हमले कर रही है.

ओएसजे/एसएफ

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन