पत्नी ने लगाए शमी पर गंभीर आरोप, खतरे में करियर | दुनिया | DW | 09.03.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

पत्नी ने लगाए शमी पर गंभीर आरोप, खतरे में करियर

क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां के आरोपों ने भारतीय क्रिकेट में बवंडर पैदा कर दिया है. उन्होंने मैच फिक्सिंग के आरोप लगाते हुए कहा है कि शमी ने एक पाकिस्तानी लड़की से पैसे लिए हैं.

इससे पहले हसीनजहां ने आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाड़ी मोहम्मद शमी पर देश-विदेश की कई लड़कियों के साथ संबंध रखने और उनको (पत्नी को) धोखा देने का आरोप लगाया था. उन्होंने अपने आरोपों के समर्थन में शमी के मोबाइल फोन से की गई बातचीत के स्क्रीनशॉट को भी साझा किया. जहां ने शमी और उनके घरवालों पर मानसिक व शारीरिक उत्पीड़न का भी आरोप लगाया. उन्होंने इस मामले में गुरुवार शाम को कोलकाता पुलिस मुख्यालय लालबाजार में लिखित शिकायत दर्ज कराई है. दूसरी ओर मोहम्मद शमी ने तमाम आरोपों को निराधार करार दिया है. इस बीच, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने शमी का कॉन्ट्रैक्ट रोक लिया है. हाल के वर्षों में भारतीय क्रिकेट में अपनी तरह के इस पहले विवाद से शमी का करियर अधर में लटक गया है.

विवाद की शुरुआत

इस विवाद की शुरुआत बुधवार शाम को हुई. शमी की पत्नी ने अपनी एक फेसबुक पोस्ट में विभिन्न लड़कियों के साथ इस क्रिकेटर की अंतरंग बातचीत का स्क्रीनशॉट लगाया. उन्होंने अपने इसी पोस्ट में शमी पर बेवफाई और मानसिक व शारीरिक उत्पीड़न के भी आरोप लगाए. शमी उस समय हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में देवधर ट्रॉफी मैच खेल रहे थे. उन्होंने उसी दिन अपने ऊपर लगे तमाम आरोपों को निराधार बताया. शमी ने इसे अपना खेल बिगाड़ने की साजिश करार दिया.

शमी की पत्नी बुधवार को भी लालबाजार स्थित कोलकाता पुलिस के मुख्यालय जाकर अधिकारियों से मिलीं. लेकिन उन्होंने कोई रिपोर्ट नहीं लिखाई.  उसी दिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट वाले जिन 26 खिलाड़ियों की सूची जारी की, उसमें शमी का नाम गायब था. हाल के दक्षिण अफ्रीका दौरे में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले शमी का नाम इस सूची में नहीं होने की वजह से अटकलों व अफवाहों का दौर तेज हो गया. क्रिकेट बोर्ड ने तब कहा कि शमी का कॉन्ट्रैक्ट रोका गया है और उनके पारिवारिक विवाद से इसका कोई लेना-देना नहीं है. लेकिन अगले दिन ही बात साफ हो गई.

शमी की पत्नी ने अगले दिन एक टीवी चैनल के साथ बातचीत की और आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के इस खिलाड़ी पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगाते हुए कहा है कि शमी ने एक पाकिस्तानी लड़की से पैसे लिए हैं. हसीन जहां ने कहा, "शमी अगर मुझे धोखा दे सकता है तो देश को भी धोखा दे सकता है. उसने ब्रिटेन में रहने वाले एक व्यक्ति मोहम्मद भाई के कहने पर दुबई में पाकिस्तान की एक युवती अलीशबाह से भी पैसे लिए हैं. मेरे पास इस बात का सबूत मौजूद है."

ध्यान रहे कि शमी व जहां की शादी वर्ष 2014 में हुई थी. इस दंपति की तीन साल की एक बेटी भी है. हसीन का दावा है कि शमी भी भारतीय कप्तान विराट कोहली की तरह बॉलीवुड की एक अभिनेत्री से शादी करना चाहते हैं. इसलिए वह बीते दो साल से उन पर तलाक के लिए दबाव बना रहे हैं. जहां का कहना है, "शादी के पहले से ही शमी के एक महिला से संबंध थे. लेकिन उसने झूठ बोल कर मुझसे शादी की." उनका आरोप है कि शमी उन्हें लेकर कभी किसी पार्टी में नहीं जाते हैं और उन्हें पत्नी का अधिकार भी नहीं दिया है. वह बीते साल श्रीलंका दौरे पर पत्नी की बजाय अपनी गर्लफ्रेंड को ले जाना चाहते थे.

पुलिस में शिकायत

जहां ने अपने वकील जाकिर हुसैन के साथ पुलिस मुख्यालय में जाकर शमी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) प्रवीण त्रिपाठी बताते हैं, "हसीन जहां ने लिखित शिकायत दर्ज कराई है. उसे संबंधित जादवपुर थाने को भेज दिया गया है. शमी का घर उसी थाना के इलाके में है."

त्रिपाठी के मुताबिक, शिकायत में पति व ससुराल वालों पर मानसिक व शारीरिक उत्पीड़न के आरोपों के अलावा शमी पर कई महिलाओं के साथ विवाहेत्तर संबंध रखने का आरोप भी लगाया गया है. हसीन के वकील जाकिर हुसैन बताते हैं, "2014 में शादी के बाद से ही शमी व उनके घरवाले हसीन पर अत्याचार करते थे. हसीन ने शादी बचाने की भरसक कोशिश की लेकिन अब पानी सिर के ऊपर से बहने लगा है." हुसैन ने बताया कि शमी बीते दो साल से जहां को लगातार धमकियां दे रहे थे और तलाक देने का भी दबाव बना रहे थे.

शमी की सफाई

दूसरी ओर देवधर ट्रॉफी खेलने के बाद शमी यहां अपने घर लौटने की बजाय उत्तर प्रदेश स्थित अपने पैतृक घर चले गए हैं. पत्रकारों से बातचीत में इस तेज गेंदबाज ने कहा, "पत्नी की ओर से लगाए गए तमाम आरोप झूठे हैं और यह उनका करियर बिगाड़ने की साजिश है." शमी के मुताबिक, बीते दो दिनों के दौरान उन्होंने कई बार अपनी पत्नी से संपर्क करने का प्रयास किया है लेकिन वह फोन नहीं उठा रही है.

शमी ने दावा किया कि देवधर ट्रॉफी खेलने के लिए जाने से पहले सबकुछ ठीक-ठाक था. उन्होंने एक साथ होली भी मनाई थी और कई पार्टियों में भी साथ गए थे. शमी कहते हैं, "मैंने अपने ससुर से भी बात की है. उनको भी इस बात का अनुमान नहीं है कि हसीन जहां आखिर ऐसा क्यों कर रही है." खुद को निर्दोष बताते हुए इस क्रिकेटर ने अगले दो-तीन दिनों में कोलकाता लौटने की बात कही है. शमी का कहना है कि मैच फिक्सिंग करने की बजाय वह मर जाना पसंद करेंगे.

असमंजस में क्रिकेट बोर्ड

शमी का पारिवारिक विवाद सुर्खियों में आने की वजह से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड भी असमंजस में है. फिलहाल सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में प्रशासकों की एक टीम बोर्ड का कामकाज देख रही है. उसने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट वाले खिलाड़ियों की सूची में शमी का नाम शामिल नहीं किया है. बोर्ड के सूत्रों का कहना है कि शमी को प्‍लेयर कॉन्‍ट्रैक्‍ट सिस्‍टम से इसलिए बाहर किया गया है क्‍योंकि उनकी पत्नी ने उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. शमी को अनुशासनात्‍मक वजहों से जगह नहीं दी गई है और अगर वह निर्दोष साबित होते हैं तो सूची में शामिल हो जाएंगे.

बोर्ड ने बीते साल शमी को बी श्रेणी में रखा था. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि शमी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलते हैं या नहीं. हाल में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए टेस्ट मैच में उनका प्रदर्शन शानदार रहा था. इस तेज गेंदबाज ने अपने करियर में अब तक 30 टेस्ट मैचों में 28.90 की औसत से 110 विकेट लिए हैं. लेकिन ताजा विवाद के बाद उनका करियर अधर में लटक गया है.

DW.COM

विज्ञापन