न्यूयॉर्क साजिश के पीछे पाक तालिबान | दुनिया | DW | 10.05.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

न्यूयॉर्क साजिश के पीछे पाक तालिबान

अमेरिकी अधिकारियों ने दावा किया है कि न्यूयॉर्क में बम हमले की नाकाम कोशिश पाकिस्तानी तालिबान ने की थी. अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कड़े शब्दों में कहा है कि इस साजिश के परिणाम भुगतने होंगे.

default

साजिश की जांच कर रहे अधिकारियों ने सबूतों का हवाला देते हुए कहा कि गिरफ़्तार आरोपी शहज़ाद फ़ैसल पाकिस्तानी तालिबान के इशारे पर काम कर रहा था. अमेरिकी एटॉर्नी जनरल ने कहा, ''हमें इस बात के सबूत मिल गए हैं कि पाकिस्तानी तालिबान इसके पीछे है.''

एक इंटरव्यू के दौरान एटॉर्नी जनरल एरिक होल्डर ने कहा, ''हमें पता है कि पाकिस्तानी तालिबान ने मदद की. हमें लग रहा है कि उन्होंने आर्थिक रूप से मदद की और शहज़ाद उनके निर्देशों पर काम कर रहा था.''

Faisal Shahzah / New York / vereiteltes Attentat

आरोपी फ़ैसल शहजाद

न्यूयॉर्क में इसी महीने की शुरूआत में बम हमले की नाक़ाम कोशिश की गई. टाइम्स स्कवायर इलाके में कार में बम रखा गया था, जिसे धमाके से पहले पुलिस ने निष्क्रिय कर दिया. इस सिलसिले में एक पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक शहज़ाद फ़ैसल को ग़िरफ़्तार किया गया है.

अमेरिकी जांच अधिकारियों का कहना है कि फ़ैसल अपना गुनाह क़बूल कर चुका है. एफ़बीआई के मुताबिक फ़ैसल ने पाकिस्तान में आतंकवाद की ट्रेनिंग ली. इस मामले में कुछ ग़िरफ़्तारियां पाकिस्तान में भी हुई हैं.

रविवार को मामले में गर्मी अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के बयान से भी बढ़ गई. क्लिंटन ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा, ''इस हमले के तार पाकिस्तान से जुड़ गए हैं. इसके कई परिणाम हो सकते हैं.'' हालांकि इस चेतावनी के बाद क्लिंटन ने पाकिस्तान को पुचकारा भी. उनके मुताबिक इस्लामाबाद आतंकवाद के ख़िलाफ़ ठोस कदम उठा रहा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री

विज्ञापन