नौ सेकंड में गोल | खेल | DW | 30.05.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

नौ सेकंड में गोल

मैच कोई बहुत बड़ा नहीं था लेकिन गोल कमाल का रहा. क्या कारनामा किया पोडोल्स्की ने...

नौ सेकंड में गोल. रेफरी ने सीटी बजाई भी नहीं कि गोल जाल के अंदर. जर्मनी के लुकास पोडोल्स्की ने इक्वाडोर के खिलाफ ऐसा कर दिखाया. मैच बड़ा नहीं था लेकिन पोडोल्स्की के गोल ने इसे यादगार बना दिया. यूं तो दावा किया जाता है कि फुटबॉल का सबसे तेज गोल मैच शुरू होने के दो सेकेंड के भीतर ही किया जा चुका है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय मैचों में ऐसा कारनामा पहले सिर्फ एक बार हुआ है...

एजेए/एएम (डीपीए)

संबंधित सामग्री

विज्ञापन