नाइजीरिया और अफगानिस्तान सबसे भ्रष्ट: कैमरन | दुनिया | DW | 11.05.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नाइजीरिया और अफगानिस्तान सबसे भ्रष्ट: कैमरन

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन बकिंघम पैलेस पहुंचे थे रानी का 90वां जन्मदिन मनाने. रानी के साथ उनकी कुछ बातें, जो कैमरे पर रिकॉर्ड हो गयीं, सोशल मीडिया पर खूब चर्चा में हैं.

बकिंघम पैलेस में हुई बातचीत से डेविड कैमरन की छवि पर असर पड़ सकता है. महारानी एलिजाबेथ द्वितीय वे 12 मई को लंदन में होने वाले एंटी करप्शन समिट के बारे में बता रहे हैं. अनौपचारिक रूप से हो रही इस बातचीत में वे रानी से कहते हैं, "दरअसल हमारे पास कई ऐसे देशों से नेता आ रहे हैं जो बेहद भ्रष्ट हैं." वे आगे कहते हैं, "नाइजीरिया और अफगानिस्तान दुनिया के सबसे भ्रष्ट देशों में से हैं."

रानी इस पर थोड़ी हैरान दिखती हैं और फौरन कुछ कहने से बचती हैं. आस पास मौजूद ढेरों कैमरों को ध्यान में रखते हुए रानी और कैमरन के बीच खड़े आर्चबिशप जस्टिन वेल्बी बात को थोड़ा संभालने की कोशिश करते हैं. नाइजीरिया के बारे में वे कहते हैं, "लेकिन मौजूदा राष्ट्रपति भ्रष्ट नहीं है, वह काफी कोशिश कर रहा है."

हालांकि बात यहीं पर खत्म नहीं होती. ब्रिटिश संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमन्स के स्पीकर जॉन बेरकॉ मजाकिया अंदाज में पूछते हैं, "उम्मीद है कि ये लोग अपने ही खर्च पर आ रहे हैं!"

इस वीडियो के सामने आने के बाद नाइजीरिया और अफगानिस्तान दोनों ही ने नाराजगी व्यक्त की है. नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी के प्रवक्ता का कहना है कि राष्ट्रपति इन टिप्पणियों से काफी "आहत" हुए हैं. वहीं अफगानिस्तान ने भी इसे "अनुचित" करार दिया है और कहा है कि देश काफी प्रगति कर चुका है.

वहीं डेविड कैमरन के प्रवक्ता ने इस ओर इशारा किया है कि प्रधानमंत्री से यह "गलती" अनजाने में नहीं हुई लगती. उन्होंने कहा, "कैमरा उनके बहुत करीब थे और कमरे में बहुत ही सारे कैमरा मौजूद थे." यानि ऐसे में कैमरन का कैमरे पर ध्यान ना गया हो, यह मानना मुश्किल ही लगता है.

DW.COM

विज्ञापन