नए एप्पल पर प्रतिक्रिया ठंडी | दुनिया | DW | 19.09.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नए एप्पल पर प्रतिक्रिया ठंडी

शुक्रवार से 5एस और 5सी आईफोन बाजार में आ रहा है लेकिन इसे लेकर बाजार में बहुत उत्साह नहीं है. पहली बार एप्पल ने रंगीन आईफोन बाजार में उतारा है.

हरा, नीला, पीला, गुलाबी और सफेद, इन पांच रंगों में एप्पल का थोड़ा सस्ता संस्करण 5सी के नाम से बाजार में है. सामान्य तौर पर एप्पल के लिए लोगों की दीवानगी बहुत होती है लेकिन इस बार ये उत्साह कम दिखाई दे रहा है.

जब आईफोन 5एस और 5सी के बारे में बताया गया तो कंपनी के शेयरों की कीमत 10 फीसदी गिर गई. निवेशकों में इस उदासी का कारण समझना आसान भी है. एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स की मौत के दो साल बाद कंपनी ने कोई उत्पाद बाजार में उतारा है, लेकिन इस उत्पाद में कोई फीचर हट के नहीं है.

तो नए आईफोन में जब नए फीचरों की कमी है तो कंपनी ने कीमत पर दांव खेला है. लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या उपभोक्ता भी यही महसूस करेंगे...

DW.COM

नए आईफोन के दोनों उत्पादों का डिजाइन और फीचर एक सा ही है. बस 5सी के जरिए एक सस्ता उत्पाद लाने की कंपनी ने कोशिश की है. कंपनी इसके जरिए भारत और चीन जैसे मार्केट में घुसना चाहती है, जहां पहले से गूगल, सैमसंग और सस्ते फोन्स का बाजार जमा हुआ है.

भले ही ये फोन किफायती फोन के तौर पर पेश किए गए हों लेकिन इनकी कीमत एशियाई बाजारों के लिए फिर भी ज्यादा है. भारत में नए आईफोन की कीमत 50 हजार रुपये है, और सस्ते की 35 हजार.

सिटी रिसर्च नाम की कंपनी का अनुमान है कि एप्पल आईफोन 5सी 45 लाख आईफोन बेचेगी और 32 लाख आईफोन 5एस. इसका मतलब है कि उपभोक्ता सस्ता विकल्प ही चुनेंगे. तकनीक की जानी मानी वेबसाइट बीजीआर के मुताबिक, "इस छोटे एंगल से देखने पर एप्पल का, 5सी की कीमत ज्यादा रखने का रक्षात्मक फैसला समझा जा सकता है. लेकिन इसका मतलब यह भी है कि अपने उत्पाद को प्रतिस्पर्धा में रखने के लिए एप्पल के पास कोई और उपाय नहीं था."

एएम/एमजे (एएफपी, डीपीए)

विज्ञापन