थोड़ा सा पानी, ढेर सारी फसल | मंथन | DW | 01.08.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

थोड़ा सा पानी, ढेर सारी फसल

पानी सिर्फ नहाने, कपड़े धोने और खाना पकाने के लिए ही नहीं, खाना उगाने के लिए भी उतना ही जरूरी है. क्यों ना पानी की हर बूंद का हिसाब रखा जाए. जिस फसल को जितनी जरूरत है, ठीक उतना ही दिया जाए.

वीडियो देखें 03:46

_______________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

और पढ़ें