तेल और डायपरों ने बंद की इंग्लैंड की सीवेज लाइन | दुनिया | DW | 09.01.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

तेल और डायपरों ने बंद की इंग्लैंड की सीवेज लाइन

लोगों की लापरवाही के चलते इंग्लैंड की एक अहम सीवेज लाइन का 64 मीटर लंबा हिस्सा जाम है. बार बार मना करने के बावजूद हर तरह का कूड़ा करकट सीवेज में डाला गया.

दक्षिण पश्चिमी इंग्लैंड की अहम सीवेज लाइन में 64 मीटर लंबा जाम लगा है. चर्बी, खाद्य तेल और बच्चों के डायपर फंसकर बड़े हिस्से को जाम कर चुके हैं. ये सारी चीजें मिलकर इतनी कड़ी हो गई हैं कि सीवेज लाइन पूरी तरह चोक हो चुकी है.

अधिकारियों ने जाम को "फैटबर्ग" नाम दिया है. साउथ वेस्ट वॉटर के अधिकारी एंड्र्यू रोआन्ट्री कहते हैं, "इस राक्षस को हमारे सीवेज से बाहर निकालने में आठ हफ्ते लगेंगे और यह काम बहुत ही चुनौती भरा होगा." आठ हफ्ते यानि अगले दो महीने तक सीवेज लाइन का यह हिस्सा बंद रहेगा.

रोआन्ट्री ने लोगों से एक बार फिर अपील की है कि वे टॉयलेट के फ्लश में ग्रीज, कुकिंग ऑयल और बच्चों के डायपर न बहाएं. रोआन्ट्री ने कहा, "फैटबर्ग को चारा न दें."

यह पहला मौका नहीं है कि जब इंग्लैंड में फैट की वजह से सीवेज सिस्टम बंद हुआ हो. 2017 में पूर्वी लंदन के व्हाइट चैपल इलाके के नीचे 250 मीटर लंबा जाम लगा था. वह जाम भी वसा युक्त पदार्थों और डायपरों के चलते लगा था. उसे हटाने में भी कई हफ्ते लग गए.

खाद्य तेल, मक्खन, मोटर ऑयल और ग्रीस जैसी हाई फैट प्रोडक्ट ठंडे पानी के संपर्क में आते ही ठोस होकर जम जाते हैं. डायपर जैसी चीजें पानी के संपर्क में आने पर फूल जाती हैं. ये सारी चीजें एक साथ मिलने पर पाइपों को बंद कर देती हैं.

आम तौर पर छोटे मोटे पाइप में जमे फैट को खौलते पानी से हटाया जा सकता है. लेकिन बड़ी सीवेज लाइन में डायपर और अन्य तरह की गंदगी के साथ मिले फैट को हटाने के लिए लाइन खोलनी ही पड़ती है. विषैले तत्वों और गैसों के कारण यह काम बेहद जोखिम भरा होता है.

ओएसजे/आरपी (एपी)

DW.COM

विज्ञापन