तीन अमेरिकी राज्यों में इमरजेंसी | ताना बाना | DW | 01.05.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

ताना बाना

तीन अमेरिकी राज्यों में इमरजेंसी

मैक्सिको की खाड़ी से रिसता तेल अमेरिकी राज्य फ्लोरिडा, अलबामा और लुइसियाना तक पहुंचा. तीनों राज्यों में इमरजेंसी. प्लेटफॉर्म चलाने वाली ब्रिटिश कंपनी के ख़िलाफ़ कई मुक़दमे दर्ज. रोज़ बह रहा है साढ़े नौ लाख लीटर तेल.

default

तटों पर जमा कच्चा तेल

शुक्रवार को लहरों के साथ बह रहे कच्चे तेल की वजह से अलाबामा सरकार ने इमरजेंसी की घोषणा कर दी है. आपातकाल की घोषणा करते हुए गवर्नर बॉब रिले कहा कि, ''हमारे पर्यावरण और अर्थव्यवस्था को गंभीर ख़तरा है.'' इससे शुक्रवार को ही पहले फ्लोरिडा और लुइसियाना राज्यों में भी इमरजेंसी लगा दी गई. मैक्सिको की खाड़ी के पास 20 अप्रैल को अमेरिकी ऑयल प्लेटफॉर्म में विस्फोट हुआ था. तब से हर दिन 9,55,000 लीटर कच्चा तेल समुद्र में बह रहा है.

ऑयल प्लेटफॉर्म चलाने का काम ब्रिटेन की कंपनी बीपी करती है. कंपनी क़रीब विस्फोट के बाद से ही रिसाव बंद करने की कोशिश में जुटी है, लेकिन सफलता नहीं मिल पा रही है. रिसाव क़रीब पांच हज़ार फीट की ग़हराई पर तीन अलग अलग जगहों से हो रहा है. आपदा रोकने के लिए अमेरिकी सेना की मदद भी ली जा रही है. विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि मौजूदा रिसाव के परिणाम 1989 के एक्ज़ॉन वाल्डज़ हादसे भी गंभीर होने जा रहे हैं.

Ölpest / USA / BP // NO-FLASH

तेल की वजह से काला पड़ा अटलांटिक महासागर का एक बड़ा हिस्सा

इस बीच ब्रिटिश कंपनी पर भी अब कानूनी शिकंजा कसता जा रहा है. शुक्रवार को दो सांसदों की एक समिति बनाई गई है. यह समिति इस बात की जांच करेगी कि बीपी ने बड़े रिसाव को रोकने के लिए कैसे कदम उठाए. विस्फोट से पहले कंपनी किस तरह के सुरक्षा इंतज़ामों के साथ चल रही थी, इस बात की जांच भी होगी. समिति ने बीपी से हादसे और बचाव की कोशिशों पर बयान मांगा है.

लुइसियाना, अलबामा और कुछ अन्य जगहों पर बीपी के ख़िलाफ़ मुक़दमे दर्ज हो गए हैं. कंपनी पर आरोप है कि उसने बड़े तेल रिसाव को रोकने में लापरवाही दिखाई. कुछ ही दिन पहले पता चला था कि रिसाव अनुमान से पांच गुना ज़्यादा हो रहा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री

विज्ञापन