डकार रैली ने लील ली पुर्तगाली राइडर की जान | खेल | DW | 13.01.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

खेल

डकार रैली ने लील ली पुर्तगाली राइडर की जान

तेज स्पीड के दीवानों के लिए मोटर स्पोर्ट्स देखना बेहद रोमांचक होता है लेकिन जो राइडर असंभव गति को छूने की कोशिश करते वे अपनी जान को जोखिम में डालते हैं. डकार रैली में क्रैश में मरे पुर्तगाली राइडर की मौत से शोक का माहौल.

पुर्तगाली मोटरबाइक राइडर पाउलो गोनसाल्विस की डकार रैली में हुए क्रैश में मौत हो गई. 40 साल के गोनसाल्विस की मौत के साथ ही इस खतरनाक और कभी कभी जानलेवा खेल में हुई यह 25वीं मौत है. रियाद से वादी अद-दवासिर के बीच आयोजित इस मोटरस्पोर्ट्स मैराथन के सातवें चरण में पहुंच कर 276 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद गोनसाल्विस दुर्घटना का शिकार हुए. डकार रैली की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी बयान में कहा गया, "आयोजकों को 10:08 पर सूचना मिली और उन्होंने फौरन मेडिकल हेलिकॉप्टर रवाना किया जो 10:16 पर बाइकर के पास पहुंच गया और उन्हें कार्डिएक अरेस्ट के बाद अचेतन अवस्था में पड़ा पाया."

Argentinien Buenos Aires | Motorradfahrer Paulo Goncalvez (Getty Images/AFP/F. Fife)

पुर्तगाली मोटरबाइक राइडर पाउलो गोनसाल्विस.

दुर्घटना के बारे में आगे बताया गया कि मौके पर ही गोनसाल्विस की सांसें वापस लाने की कई कोशिशों के बाद उन्हें हेलिकॉप्टर से लायला अस्पताल लाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. डकार के निदेशक डेविड कास्टेरा ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के एक राइडर टोबी प्राइस ने सबसे पहले गोनसाल्विस के गिरे होने की सूचना दी थी. यह गोनसाल्विस का डकार रैली में हिस्सा लेने का 13वां मौका था. सन 2006 में अफ्रीका में आयोजित हुई रैली में उन्होंने पहली बार इस रैली में शुरुआत की थी. कास्टेरा ने बताया, "पाउलो बहुत लंबे समय से साथ थे और जिन्हें हम सब जानते थे और जो इस रैली की एक पहचान भी थे..यह बहुत कठिन घड़ी है."

भारतीय कंपनी हीरो मोटरस्पोर्ट्स द्वारा प्रायोजित राइडर गोनसाल्विस सऊदी अरब में पहली बार आयोजित डकार रैली में हिस्सा ले रहे थे. इसके पहले दिसंबर में अपने देश पुर्तगाल में खेल के दौरान क्रैश का शिकार होने से उनकी स्प्लीन फट गई थी. इसके लिए सर्जरी से गुजरने के बाद फिर से स्वस्थ होकर सऊदी पहुंचे गोनसाल्विस ने कहा था, "यहां रेस शुरु करना मेरे लिए जीत के बराबर है." प्रतियोगिता के छठे चरण के बाद बनी तालिका में गोनसाल्विस को ओवरऑल बाइक स्टैंडिंग में 46वीं रैंक पर रखा गया था.

कितना खतरा है इस खेल में

इसके पहले किसी डकार रैली में हिस्सा लेने वाले राइडर की जान जाने की घटना 2015 में अर्जेंटीना में हुई थी. रेस के दौरान पोलैंड के मिशाल हेनरिक की मौत हो गई थी. सन 1979 में डकार रैली के उद्घाटन से लेकर अब तक जिन 25 राइडर्स की मौत हुई है, उनमें से 20 इस खेल से जुड़े खतरों के कारण ही हुईं इन पर प्रकाश डालते हुए कास्टेरा ने बताया, "हम जानते हैं कि बाइक खतरनाक होती है." खुद भी पांच डकार रैलियों में मोटरबाइक चला चुके कास्टेरा ने कहा, "आप सुबह चलाना शुरू करते हैं, कभी कभी आपको डर लगता है क्योंकि कोई इसमें कोई सुरक्षा नहीं है, कुछ भी नहीं है. और यह हर राइडर को पता होता है."

13 में से छह डकार रैलियों में टाइटल जीतने वाले एक और अनुभवी राइडर फ्रांस के श्टेफान पेटरहान्सेल बताते हैं, "मुझे हमेशा लगा कि बाइक चलाते हुए मैं आग से खेल रहा हूं. मैंने अपना बाइक करियर काफी पहले खत्म कर दिया और अपने कई दोस्तों को सामने मरते देखा है."

पुर्तगाली राष्ट्रपति ने गोनसाल्विस की मौत पर आधिकारिक बयान देते हुए कहा कि वह "दुनिया की कुछ सबसे खतरनाक और मुश्किल रैलियों में से एक को जीतने के सपने को पूरा करने की कोशिश" में मारे गए. दो बार फॉर्मूला वन चैंपियन बन चुके फर्नांडो अलोन्जो इस बार डकार रैली में शुरुआत कर रहे हैं. उन्होंने कहा, "यह खेल अति वाला है... मेकैनिकल खेल कभी भी 100 फीसदी सुरक्षित नहीं हो सकता."

आरपी/ओएसजे (एएफपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM