ट्रंप के फैसले से ऐसे निपटेगी हार्ली डेविडसन | दुनिया | DW | 26.06.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

ट्रंप के फैसले से ऐसे निपटेगी हार्ली डेविडसन

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की शुल्क नीति के जवाब में यूरोपीय संघ और भारत जैसे देशों ने हार्ली डेविडसन पर जवाबी शुल्क ठोक दिया है. अब हार्ली डेविडसन ने अपना उत्पादन आंशिक रूप से विदेशों में ले जाने का फैसला किया है.

इस फैसले का मकसद यूरोप और दूसरे देशों में हार्ली डेविडसन मोटरसाइकिलों की कीमत बढ़ने को रोकना है. यूरोपीय संघ ने हार्ली पर शुल्क मौजूदा 6 प्रतिशत से बढ़ाकर 31 प्रतिशत कर दिया है. इससे यूरोपीय देशों में इस मोटरसाइकिल की कीमत 2200 यूरो ज्यादा हो गई है. कंपनी ने कहा है कि 9 से 18 महीने में विदेशों में उत्पादन शुरू करने तक कंपनी ये खर्च ग्राहकों से लेने के बदले खुद उठाएगी. इसका मतलब कंपनी को इसी साल 3 करोड़ से लेकर 4.5 करोड़ डॉलर का घाटा होगा.

अमेरिका ने ईयू के स्टील और अल्युमीनियम उत्पादों पर अतिरिक्त कर लगाने की घोषणा की थी. उसके जवाब में पिछले शुक्रवार से ईयू ने मोटरसाइकिल के अलावा व्हिस्की, जींस, मक्का और चावल जैसे उत्पादों पर जवाबी शुल्क लगा दिया. हार्ली डेविडसन पहली कंपनी है जिसने राष्ट्रपति ट्रंप के फैसले से होने वाले असर का विस्तृत ब्योरा दिया है.

कंपनी का कहना है कि यदि वह अतिरिक्त शुल्क की वजह से ग्राहकों से बढ़ी हुई कीमतें लेता है तो इसका उसके कारोबार पर फौरी और दूरगामी असर होगा. हार्ली डेविडसन यूरोप में हर साल 40,000 मोटरसाइकिल बेचता है.ईयू के शुल्क से पड़ेगा हार्ली डेविडसन की बिक्री पर असर

कंपनी ने अमेरिकी नियामक संस्था एसईसी को दी गई रिपोर्ट में कहा है कि वह अपने अमेरिकी उत्पादन का एक हिस्सा विदेशों में ट्रांसफर कर देगी. इससे यूरोपीय बाजार में बेची जाने वाली मोटरसाइकिलें प्रभावित होंगी.

कंपनी ने कहा है कि रिटेलरों या ग्राहकों के लिए दाम बढ़ाने की कोई योजना नहीं है. यूरोपी में हार्ली डेविडसन मोटरसाइकिलें 43,000 यूरो की बिकती हैं. स्टील और अल्युमीनियम पर अमेरिका के 25 प्रतिशत अतिरिक्त शुल्क के कारण कच्चे माल की कीमतें भी बढ़ गई हैं और उत्पादन महंगा हो गया है.

यूरोप हार्ली मोटरसाइकिलों के लिए अमेरिका के बाद दूसरा सबसे बड़ा बाजार है. कंपनी पहले ही मोटरसाइकिल बाजार में भारी प्रतिस्पर्धा और बुजुर्ग होते ग्राहकों की समस्या का सामना कर रही थी. पहली तिमाही में दुनिया भर में होने वाली बिक्री दस प्रतिशत कम होकर करीब 64,00 रह गई है.

मुनाफे में भी पांच प्रतिशत की गिरावट आई है और वह 17.5 करोड़ डॉलर रह गया है. हार्ली डेविडसन के अमेरिका से बाहर ब्राजील, भारत और थाइलैंड में कारखाने हैं. अब उनमें विस्तार किया जाएगा.

एमजे/एके (डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन