ट्रंप-किम मुलाकात की उम्मीदें टूटी नहीं हैं | दुनिया | DW | 28.05.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

ट्रंप-किम मुलाकात की उम्मीदें टूटी नहीं हैं

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि वह अब भी उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन से मुलाकात के तरीके तलाश रहे हैं. पिछले हफ्ते उन्होंने दोनों नेताओं की मुलाकात को रद्द कर दिया था. उत्तर कोरिया भी चाहता है कि मुलाकात हो.

कूटनीतिक उतार चढ़ाव के बीच अमेरिका और उत्तर कोरिया की तरफ से ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि अमेरिकी राष्ट्रपति और उत्तर कोरियाई नेता के बीच प्रस्तावित मुलाकात हो सकती है. राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्विटर पर लिखा, "हमारी अमेरिकी टीम उत्तर कोरिया पहुंच गई है ताकि किम जोंग उन और मेरी शिखर वार्ता के लिए प्रबंध किए जा सकें."

उन्होंने कहा, "सचमुच मैं मानता हूं कि उत्तर कोरिया में शानदार संभावनाएं हैं और एक दिन वह एक महान आर्थिक और वित्तीय राष्ट्र बनेगा. किम जोंग उन इस बात पर मेरे साथ सहमत हैं. यह होगा!"

अमेरिकी विदेश के मंत्रालय के प्रवक्ता ने भी पुष्टि की है कि अमेरिका और उत्तर कोरिया के प्रतिनिधिमंडल अब भी 12 जून को प्रस्तावित शिखर वार्ता को संभव बनाने के लिए बातचीत कर रहे हैं. इस शिखर वार्ता को पिछले हफ्ते ट्रंप ने किम की तरफ से "खुली दुश्मनी" का हवाला देते हुए रद्द कर दिया था.

उत्तर कोरिया के नेता इस बात से नाराज थे कि ट्रंप खेमे के बहुत से सदस्य उत्तर कोरिया से निपटने के सिलसिले में लगातार "लीबिया मॉडल" का जिक्र कर रहे थे. लेकिन ट्रंप ने अपने सहयोगियों की बयानबाजियों से अलग होते हुए कहा कि उत्तर कोरिया को लेकर लीबिया मॉडल उनकी योजना में दूर दूर तक शामिल नहीं है.

जॉर्ज बुश और बराक ओबामा के राष्ट्रपति काल में लीबिया में कड़े प्रतिबंधों के जरिए सत्ता परिवर्तन के लिए दबाव बनाया गया था. लेकिन इस मॉडल की परिणिति लीबिया के नेता मुआम्मर गद्दाफी की मौत के रूप में सामने आई- और इसीलिए उत्तर कोरिया के नेता को बार बार लीबिया मॉडल के जिक्र पर गुस्सा आया.

शनिवार को किम ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन से विसैन्यीकृत जोन में अघोषित वार्ता की. मुलाकात के बाद मून ने बताया कि किम चाहते हैं कि ट्रंप के साथ मुलाकात हो. उत्तर कोरियाई समाचार एजेंसी केसीएन ने भी अमेरिका के साथ शिखर वार्ता को लेकर किम की इच्छा के बारे में खबर दी है.

एके/एमजे (डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन