टेनिस में पिछड़ा अमेरिका | खेल | DW | 09.05.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

टेनिस में पिछड़ा अमेरिका

हुनर पर कॉपीराइट नहीं होता, सिर्फ एक पीढ़ी की उदासीनता सब मटियामेट कर सकती है. अमेरिकी टेनिस का खस्ताहालत इसका सबूत है. महान टेनिस खिलाड़ी क्रिस एवर्ट के मुताबिक अमेरिका अंतरराष्ट्रीय टेनिस मंच से बाहर सा हो गया है.

1990 का दशक था. टेनिस का ज्यादातर ग्रैंड स्लैम या तो अमेरिका के पीट सैम्प्रास जीतते थे या उन्हीं के हमवतन आंद्रे अगासी. अक्सर फाइनल भी इन्हीं दोनों के बीच होता था. इन दोनों का दौर खत्म हुआ तो एंडी रोडिक आए. महिलाओं में वीनस और सेरेना विलियम्स आए. विलियम्स बहनों से भी सात-आठ साल तक सैम्प्रास और अगासी जैसा माहौल बना दिया.

लेकिन अब सूखा पड़ चुका है. किसी अमेरिकी पुरुष खिलाड़ी को टेनिस का ग्रैंड स्लैम जीते हुए एक दशक बीत चुका है. आखिरी बार 2003 में एंडी रोडिक ने ग्रैंड स्लैम जीता था. इस बीच विलियम्स बहनों का जादू भी फीका सा पड़ चुका है. हांलाकि सेरेना अब भी नंबर एक खिलाड़ी हैं, बीते साल उन्होंने दो ग्रैंड स्लैम भी जीते, लेकिन उनके प्रदर्शन में निरंतर प्रवाह दिखना बंद हो चुका है. चीन की ली ना, बेलारूस की विक्टोरिया अजारेंका और पोलैंड की आग्निएष्का राडवांस्का नई स्टार हैं.

Tennis Australian Open - Victoria Azarenka

विक्टोरिया अजारेंका

1970 के दशक में 18 ग्रैंड स्लैम जीतकर तहलका मचाने वाली क्रिस एवर्ट को लगता है कि एक पीढी़ की उदासीनता की वजह से टेनिस में अमेरिका बाहर सा हो चुका है. प्रतिस्पर्धा भी काफी कड़ी हो चुकी है और फिलहाल अमेरिकी खिलाड़ी इससे जूझने में सक्षम नहीं हैं.

एवर्ट कहती हैं, "यह अब अंतरराष्ट्रीय खेल ज्यादा लगने लगा है." एवर्ट के समय में करीब 10 देशों के खिलाड़ी टेनिस खेला करते थे. इन दिनों 200 देशों के खिलाड़ी हर तरह की प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले रहे हैं. एवर्ट के मुताबिक कई छोटे देशों में अब टेनिस को प्राथमिकता दी जा रही है. अच्छे कोर्ट बनाए जा चुके है और बढ़िया ट्रेनिंग प्रोगाम चल रहे हैं. सर्बिया, बुल्गारिया, बेलारूस, पोलैंड, चीन और भारत के युवा टेनिस खिलाड़ियों में जीत के भूख भी दिखती है.

Bildergalerie Tennis Li Na

चीन की ली ना

टेनिस में आए इस सूखे को खत्म करने में अमेरिका को कितना लंबा वक्त लगेगा, यह पूछे जाने पर एवर्ट कहती हैं, "अब मैं नए खिलाड़ियों का एक जत्था देख रही हूं जो कि 18 से 21 साल के बीच का है. वो बहुत कोशिशें कर रहे हैं."

56 साल की एवर्ट फ्लोरिडा में टेनिस अकादमी चलाती हैं. अमेरिकी टेनिस के स्वर्णिम और बुरे दौर की बातचीत के बीच उन्हें कुछ असहज करने वाली यादों से भी दो चार होना पड़ा. शांत स्वभाव और विनम्रता के लिए जानी जाने वाली एवर्ट करियर के शुरुआती दिनों में टेनिस खिलाड़ी जिमी कॉर्नर के प्यार में थी. 19 साल की उम्र में वह गर्भवती भी हो गईं. दोनों ने 1974 में शादी करने का फैसला किया, लेकिन विवाह से ठीक पहले एवर्ट ने गर्भपात करा लिया. कॉर्नर ने ये सारी बातें अपनी किताब में लिखी हैं. एवर्ट इससे आहत हैं. उनके मुताबिक, "मुझे सूचित किए बिना 40 साल पहले हुए निजी वाकयों को सार्वजनिक करना गलत है."

ओएसजे/एमजे (डीपीए)

DW.COM

WWW-Links