टीम इंडिया की टक्कर ऑस्ट्रेलिया से | खेल | DW | 07.05.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

टीम इंडिया की टक्कर ऑस्ट्रेलिया से

टी 20 वर्ल्ड कप में आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सुपर 8 का मुकाबला खेला जाएगा. महेंद्र सिंह धोनी की टीम शुरू के दोनों मैच जीत कर अच्छे फॉर्म में है, जबकि ऑस्ट्रेलिया हमेशा से एक ताकतवर टीम मानी जाती है.

default

धोनी से उम्मीद

दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम भारत और लंबे समय तक पहले नंबर पर रह चुकी ऑस्ट्रेलिया की टीमें इस वर्ल्ड कप की सबसे बड़ी दावेदार टीमें हैं. भारत ने 2007 में जहां पहला ट्वेन्टी 20 वर्ल्ड कप जीता था, वहीं ऑस्ट्रेलिया इस कप को भी अपनी झोली में भरने की पूरी कोशिश करेगा. वह सबसे ज्यादा चार बार वनडे वर्ल्ड कप जीत चुका है.

भारत ने ट्वेन्टी 20 वर्ल्ड कप की शुरुआत दो बेहतरीन जीत के साथ किया और पहले मैच में अफगानिस्तान तो दूसरे में दक्षिण अफ्रीका को परास्त किया. लेकिन इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी की टीम को लंबे वक्त तक आराम करना पड़ा. दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया की टीम ने भी पहले दौर के दोनों मैच बड़ी आसानी से जीत लिए. ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान और बांग्लादेश को आसानी से हरा दिया. माइकल क्लार्क की टीम पूरे दम खम में दिख रही है और बड़े खिलाड़ी फॉर्म में चल रहे हैं.

Yuvraj SIngh Indien

युवराज से भी उम्मीदें

भारत के लिए बुरी खबर यह है कि तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार चोटिल होने की वजह से टीम से बाहर हो गए हैं. उनकी जगह महाराष्ट्र के विदर्भ के गेंदबाज उमेश यादव को टीम में लिया गया है. हालांकि यादव का नाम संभावित खिलाड़ियों में भी शामिल नहीं था. अच्छी खबर यह है कि टीम इंडिया के ओपनर गौतम गंभीर अब खुद को फिट महसूस कर रहे हैं और वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में खेल सकते हैं.

बारबाडोस में होने वाले इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के लिए फायदा इस बात का है कि अभी दो दिन पहले ही उसने इसी ग्राउंड पर बांग्लादेश के खिलाफ मैच खेला था. यानी उसे इस ग्राउंड पर खेलने का अनुभव है. भारत ने अपने दोनों मैच सेंट लूशिया में खेले थे. इस लिहाज से उसके सामने पहली बार बारबाडोस के ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलिया जैसी दमदार टीम के खिलाफ खेलते हुए अच्छा प्रदर्शन करने की चुनौती होगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संबंधित सामग्री

विज्ञापन